0
Share




@dawriter

तुझे प्यार

0 7       
deepak04 by  
deepak04

कैद था तेरे इश्क में सालों
फिर भी अाज़ाद रहा करता था
अब आकाश की तरह खुलापन है
फिर भी घुटन सी महसूस करता हुँ
उस कैद मे भी तुझसे प्यार करता था
इस  घुटन मे भी तुझे ही प्यार करता हुँ।

-दीपक



Vote Add to library

COMMENT