YOUR STORY

FILTERS


LANGUAGE

एक गिलास पानी

chandresh   771 views   3 days ago

एक गिलास पानी में इतना जादू है

તારી વાર્તા મારું જીવન

ashutosh   11 views   2 weeks ago

ગુજરાતી શીખવવાનો આગ્રહ રાખતા પિતા પુત્રી ની વાર્તા

कश्मीर : जन्नत या उजड़ा चमन

poojaomdhoundiyal   44 views   2 weeks ago

भारत का बेहद खूबसूरत राज्य है कश्मीर। कहते हैं कि कश्मीर जन्नत है। कश्मीर भारत का ताज है। किताबों ,किस्से कहानियों में कश्मीर की ख़ूबसूरती के किस्से सुन मन मचल जाता था। उसपे फिल्मों में तो इसे और भी खूबसूरती से दर्शाया जाता , इसकी खूबसूरती पर गीत लिखे जाते।

चमत्कार

Manju Singh   241 views   1 month ago

इश्वर हमें दिखायी तो नही देते लेकिन हर घड़ी वो हमारे साथ होते हैं ।

साधारण या शानदार

poojaomdhoundiyal   238 views   1 month ago

विराट अनुष्का की शादी और उस पर लोगो की प्रतिक्रिया न्र मेरे जेहन में ढेरों प्रश्न उत्पन्न किये। क्या सच में हमारा समाज ऐसा है जैसा वी दिखा रहा है या फिर वही दुगुलापन!?

कण्डोमविज्ञापन बैन

nis1985   112 views   1 month ago

कंडोम के विज्ञापन पर बैन बहुत ही बढ़िया खबर है, रात के 10बजे के बाद दिखाया जाएगा और जरूरी भी है

बड़े बड़े लोग

Rajeev Pundir   974 views   1 month ago

निम्न मध्य श्रेणी के लोग संपन्न लोगों के बारे में क्या सोचते हैं, पढ़िए एक ऐसे ही इंसान की खिन्नता को दर्शाती इस कहानी में।

प्रेम वाला खाना

mmb   1.21K views   1 month ago

पत्नी और मां के हाथों से बनाये खाने में प्रेम और वात्सल्य भरपूर होता है।

ताई

mmb   400 views   1 month ago

ताई का रुतबा आखिर समाप्त हो गया। उसका स्थान उसकी बहू ने ली।

पिक्सी

Manju Singh   122 views   2 months ago

मेरा प्यारा पिक्सी,कभी सोचा भी कहाँ था की उसके बिना रहना पड़ेगा। आज उसके जाने के बाद लगता है जैस्र दुनिया ही सूनी हो गयी ।

स्मृति

Manju Singh   729 views   2 months ago

बच्चों के दिल की बात को समझने के लिये उन पर यकीन अवश्य करें और उनकी बातों को कभी बहाना समझ कर टालने की गलती ं करें

त्रियाचरित्र : वरदान या अभिशाप

poojaomdhoundiyal   519 views   2 months ago

"त्रियाचरित्रं पुरुषस्य भाग्यम दैवो न जानती कुतो मनुष्य:"मतलब पुरुष के भाग्य और औरत के त्रियाचरित्र को देवता भी नहीं समझ पाये तो मनुष्य क्या है।

यादें

mmb   842 views   2 months ago

उम्र के अंतिम पड़ाव में जीवन की यादें उमड़ घुमड़ कर आती हैं।

लोगों का न्याय

sunilakash   329 views   2 months ago

वह निर्दोष व्यक्ति जिसने इंसाफ की बात कही थी, लोगों की मार से छूटने के लिए छटपटा रहा था और वहां मौजूद लोग अब भीड़ में मिलकर या तो तमाशा देख रहे थे, या उसे पीट रहे थे।

Fathers legacy

Anonymous
  5 views   3 months ago

My father was just a person who was always thinking about his children. A middle class man who was known for his virtues and calmness.