I bleed, I bleed, I bleed

The following piece is a direct answer to GST, 2017.

पटना वाला प्यार

पटना के सभी लड़के और लड़कियों को समर्पित यह रचना । पटना में रहने वाले सभी लोग अपने अपने समय में इस दौर से जरूर गुज़रे होंगे । उन सभी यादों को फिर से एक कहानी के रूप में ...

love at the age of seventeen

A stroy of first crush in intermediate. "साले तेरा जोक समझ लेती न वो तो एच ओ डी ऑफिस में होते", शुभम ने चुटकी ली

स्त्री को वस्तु समझने वाले-

स्त्री को जो भी-वस्तु समझते आया है-जिसने भी स्त्री सन्मान नही किया-उसका पतन निश्चित ही हुआ है।यह मैं नहीं इतिहास कहता है.

त्रियाचरित्र : वरदान या अभिशाप

"त्रियाचरित्रं पुरुषस्य भाग्यम दैवो न जानती कुतो मनुष्य:"मतलब पुरुष के भाग्य और औरत के त्रियाचरित्र को देवता भी नहीं समझ पाये तो मनुष्य क्या है।

आरक्षण

जैसे ही आनन्द ने घर में कदम रखा, पिताजी की आंखों में दहकते अंगारों ने उसका जोरदार स्वागत किया। "कहाँ थे दो दिन तक?"

कौन हो तुम?

जवाब एक स्त्री का समाज के उन लोगों को जो बस उसे दबाना चाहते हैं।

किसान आत्महत्या का खौफ़ उनके बच्चों के दिलो में

पिछले कुछ समय मे किसान बेबस हो आत्महत्या कर रहा है। मैंने इस कहानी के माध्यम से एक किसान परिवार की बच्ची का डर दिखाया है कि किस तरह से एक बेटी अपने पिता के लिए डरी हुई है कि कही वो भी आत्महत्या न कर ले।

पीली चुनरी

ये एक अधूरी प्रेम कहानी है।जिसकी शुरुआत तो हुई , पर अपने मुकम्मल मुकाम तक न पहुँच सकी ।

जान

इंटरव्यू के अंतिम चरण में चयन न होने पर हताश और क्रुद्ध आशुतोष कमरे पर पहुंचते ही पत्नी पर बरस पड़ा।

कल्पना

क्या होती है कल्पना,क्या निकलता है उनका नतीजा

प्रारब्ध

हालांकि ठाकुर साब से मेरी मित्रता अधिक पुरानी भी नहीं थी. मात्र लगभग साढ़े तीन साल हुए थे, उनसे मुलाक़ात हुए, और वह भी वाकिंग प्लाजा में. कॉलोनी का यह पार्क टहलने वालों के लिए स्वर्ग से कम नहीं था.

मरने के बाद सम्मान

​मरने के बाद सम्मान होगा मेरे शब्दों को तवज्जो तब मिलेगी

नज़्म

प्रेम में भी एक तन्हाई है पीड़ा है जो इससे सहन कर लेता है और प्रेम को पा लेता है वो ही सत्यार्थ प्रेम का हकदार है।।

So let me show you the real me!!

I usually meet people who judge others without knowing them.. So to know the reason behind doing so,I googled it. And read few reasons.. People have their own past experiences. People have ego clashes. Revengeful mind. Signs of Jealousy. Or they may be 'perfect' (sounds weird)

माफ करना

माफ़ कर देना मुझे ये दर्द ना लिख पाऊँगा थोड़ी वाह वाही के लिए इस बार ना बिक पाऊँगा कैसे लिखूँगा एक बेबस से पिता के दर्द को कैसे बयान करूँगा

घर वाकई स्वर्ग है

घर में घुसते ही पापा वाला खाली पलंग जब तक रुलाए तब तक माँ की मुझे देख चमकती आँखें मुस्कुराने पर मजबूर कर देती हैं और लगता है माँ में ही कहीं पापा भी बाहें फैलाए सीने से लगाने को बेचैन हैं

आशियाँ

प्रेम जीवन है अगर इसे सत्यता के साथ जिया जाए।। एक और मेरी कविता उस प्रेम के नाम जो मैं हर पल जीता हूँ।।

Just For Love!

Where love can be divine, sacred and the name of sacrifice for some, it can be plagued by cynicism, obsession and possessiveness for the others. Read the story to know the other aspect of love ; compelling a few to commit unthinkable, unimaginable ghastly acts just in the name of love.

विवाह

पत्नी की तन मन धन से सेवा करते पुतोहू को देखकर उनका मन द्रवित हो गया और बेटा को गले लगाकर बोले," तुमने मेरी आँख खोल दी। हम नसीब वाले हैं कि ऐसी पुतोहू मिली हैं । हमें गर्व है तुम पर।

काश तुम्हें रोक पाती

ज़िन्दगी में इतना आगे बढ़ जाना , जब बचपन के दोस्त के बारे में पता चला तो फिर आँसू रुके ही नहीं ।।

जबाब

जैसे ही बड़का ठेकेदार फटफटिया से उतरा, दुलरिया झटकती हुई उसके पास पहुँच गयी।

राजनीति के Romeo

It is a view of aam aadmi, facing the issues in UP

अज्ञात आतंकवादी

हत्या और मुक्ति के बीच का अंतर ! !