6
Share




@dawriter

चल आज कुछ किस्से लिखते है ।

0 37       

चल आज कुछ किस्से लिखते हैं।
कुछ तेरे हिस्से लिखते हैं,
कुछ मेरे हिस्से लिखते हैं ॥

कुछ हंसी तुम्हारी लिखते हैं,
कुछ आंसू मेरे लिखते हैं ॥

कुछ पल तेरे लिखते हैं,
कुछ कल मेरे लिखते हैं ॥

अन्दाज तुम्हारे लिखते हैं,
अहसास हमारे लिखते हैं ॥

तेरी महफिल लिखते हैं,
मेरी तन्हाई लिखते हैं ॥

गुजरे पल की मुस्कानो मे,
अब की खामोशी लिखते हैं ॥

कुछ गीत तुम्हारे लिखते हैं,
कुछ गज़ल हमारी लिखते हैं ॥

अहसासों की गहराई से,
हम प्रित तुम्हारी लिखते हैं ॥

तेरे हर एक लम्हे के खातिर,
अपनी जिन्दगानी लिखते हैं ॥

कुछ मुस्कान तुम्हारी लिखते हैं,
कुछ दर्द हमारे लिखते हैं ॥

चल कुछ अपने किस्से लिखते हैं…।

चन्द्र प्रताप सिंह



Vote Add to library

COMMENT