SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

सागर के किनारे

kavita   226 views   1 year ago

सागर के किनारों सी तटस्थ, और एकल जिंदगी की एक अधूरी प्रेम कहानी....

रूह से रूह जुड़ी थी

ritumishra20   78 views   1 year ago

कभी उसके ही दम से रौशन जिंदगी थी हर कदम इश्क की खुश्बू सी उड़ी थी

मेला

utkrishtshukla   102 views   1 year ago

मेले में मां बाप से बिछड़ने का दर्द सिर्फ वही जानता है जो कभी बिछड़ा हो....

सहर

utkrishtshukla   47 views   1 year ago

कई बार हम जल्दबाजी में गलत फ़ैसले ले लेते हैं।

मैं तुम और ये आवारगी ।

chandrasingh   60 views   1 year ago

जिन्दगी में अगर कभी बिछड़ना हो तो, एक काम करना बस जरा सा तुम मेरा मान करना। मुझसे कभी किश्तो मे मत बिछड़ना जब, मैं मुकम्मल नींद मे चला जाऊँ तब, तुम मुकम्मल तौर पर बिछड़ जाना, बस ज़िन्दगी में इतना तुम अहसान कर जाना।

गुमगश्त सी खामोशियाँ

nis1985   49 views   1 year ago

चलो एक ऐसे जहाँ, जहा बस सुकूँ मिले, करके आलिंगन तुम, मिटा दो सारे गिले......

मेरे अंदर का शून्य

nis1985   62 views   1 year ago

मेरे अंदर का शून्य उस अनंत की ओर जाना चाहता है

जिंदगी का फलसफा

nis1985   548 views   1 year ago

धुआँ धुआँ सा है जहाँ, रौशनी बहुत कम है.....

Shayari

sonikedia12   24 views   1 year ago

आ गए जो तेरे शहर क्या होगा। उस वक्त का पहर क्या होगा।

दिल का हाल शायरी की जुबान

rashmi   92 views   1 year ago

कल्ब़ यानि दिल के हाला़त को शायरी में कहने की कोशिश की है

कांच हु अभी....

nis1985   77 views   1 year ago

कांच हूँ अभी,खुद को तराशना है बाकी, जब आइना बन जाऊं,तब दुनिया देखेगी......

लोगों को बदलते देखा है मैंने

aksha   331 views   1 year ago

It is not a composition but my own experience

इतवार

neerajself   52 views   1 year ago

ये वक़्त भी बेवक्त मुझे कुछ यूँ सताता है...

बेईमान मौसम

chandrasingh   97 views   1 year ago

मौसमों ने मिल के साजिशें रच रहे थे, उस शरमाती हुई को, बेशरम कर रहा थे !!

Prostitution

mitikaarora   16 views   1 year ago

Prostitution isn't about selling a 'girls' body, rather its a barter of her helplessness and his dignity.