SEXUAL ABUSE

FILTERS


LANGUAGE

एक सच्ची घटना- बिना शीर्षक की एक आपबीती

Anonymous
  1.01K views   4 months ago

एक ऐसा घाव जो तन पर ही नहीं मन पर भी होता है जो ताउम्र नहीं भरता..

फिल्म

sunita   871 views   6 months ago

'अरे घनचक्कर चल कही हाथ साफ करते है बिलकुल फिल्म की माफिक ऐश करेगा अपुन दोनो बोल क्या करेगा ...क्यो नही दोस्त के लिए तो जान भी हाजिर तो फिर चल कल दोपहर नयी बिल्डिंग के पास में आना ........

आखिर ये दरिन्दगी कब तक

nis1985   333 views   10 months ago

मैं पूछती हूं क्या दिखता है आखिर ८ माह की बच्ची में, कुछ लोगो की सोच के हिसाब से लड़कियां छोटे-छोटे कपड़े पहनके उकसाती हैं न

बरसाती कीड़ा का डंक

poojaagnihotry   1.34K views   10 months ago

निहारिका का रुझान मॉडलिंग की ओर था वहीं अविका निम्न मध्यमवर्गीय परिवार से थी और नौकरी करके पिताजी की मदद करना चाहती थी।

छिपकली

Sharma Divya   1.67K views   10 months ago

यौन शोषण सिर्फ आदमी ही नहीं करते बल्कि इसका शिकार भी होते है। छिपकली एक बच्चे की कहानी है जो यौन शोषण शिकार हुआ।

विचित्र बात

Rajeev Pundir   1.49K views   10 months ago

हमारे समाज की कुछ ऐसी वास्तविकताएं हैं जिन्हें जानकार हम हैरान और परेशान हो जाते हैं। 'विचित्र बात' एक ऐसी ही कहानी है जो जो हमारे समाज में लुका-छिपी चल रही विसंगतियों को उजागर करती है। ये कहानी कोई उपदेश या सन्देश हेतु नहीं, बल्कि सावधान रहने के लिए लिखी गयी है।

"Are you Virgin "

pdimple   32 views   10 months ago

A poem on social crime on Titled "Rape"

भद्र पुरुष

Kavita Nagar   838 views   10 months ago

कैसे माधुरी दुविधा में फंसी हुई थी,मन में उथलपुथल और बहुत गुस्सा था,समझ नहीं पा रही थी,क्या करे।

आज की सीता

cloudy   1.86K views   11 months ago

सीता के साहस और असामाजिक तत्वों को करारा जवाब देने की कहानी

मै नहीं भेजूगी अपनी बेटी को स्कूल

Maneesha Gautam   1.05K views   11 months ago

तुम क्यो रखना चाहती हो घर पे उसे कृति? अपने आँसुओं को अपनी ताकत बनाओ अपनी कमजोरी नही कब तक चून्नू को अपने आँखो के सामने रखोगीं

सिक्स्थसेंस

nis1985   490 views   11 months ago

सोशल साइट्स पर अपनी जिंदगी के सबसे अहम हिस्से प्यार और शादी जैसे मैटर को लेकर किसी अनजान पर इतना भरोसा करना बेवकूफी है

कोरा कागज़

rajmati777   1.63K views   1 year ago

एक ऐसे आदमी की कहानी जो अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी करने को तैयार हों जाता है। अपने परिवार, अपनी पत्नी तक को पराया दिखा औरतों से सहानुभूति लेता रहता है। और औरतें भी उसकी बातों में आ उसके लिए सब कुछ करने को तैयार हों जाती है। पर सही रुप में देखा जाय तो वो आदमी मानसिक रोगी की श्रेणी में आता है।

क्या यही प्यार है

rajmati777   426 views   1 year ago

वो हमसे पर्याय का इजहार करते रहे पर हमें उन पर विश्वास नहीं था। पर फिर भी दिल को समझाया, कर लें विश्वास। दुनिया में सभी एक जैसे नहीं होते। पर हमें क्या पता जिंदगी जिनके नाम करने जा रहे हैं वो तो.............. विश्वास के लायक ही नही है।

फेक फेसबुक आई डी ..एक अनोखी प्रेम कथा

kavita   927 views   1 year ago

सोशल मीडिया के दुरुपयोग से लेकर ,किन्ही विशेष परिस्थितियों में इसके फायदे की एक छोटी सी भूमिका प्रधान कहानी

हाँ वो मेरा भाई था

swappy   360 views   1 year ago

एक सच्ची कहानी ,रिश्तों का चीरहरण करती हुयी, विश्वास तोड़ती हुई । अपनी कमजोरी और नासमझी के कारण जो मैंने झेला वो मैं नहीं चाहती दुनिया का कोई भी बच्चा सहे। अपने बच्चों को सुने, उनसे बात करें उनको एक सुरक्षित, खूबसूरत बचपन दें। ये उनका हक है और आपकी जिम्मेदारी।