RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

दीवाली और वो ख्वाब

ritumishra20   105 views   1 year ago

रूहानी और सच्चे प्रेम की एेसी कहानी जहां उम्र की कोई सीमा नहीं है लेकिन सामाजिक मूल्यों को स्वीकारती ये प्रेम कहानी केवल एक एहसास और ख्वाब बन के रह जाती है

बहन जी टाइप

kavita   190 views   1 year ago

दो जुड़वा बहनों की मज़ेदार कहानी अलग व्यक्तित्व अलग व्यवहार से उलझती और सुलझती हुई जिंदगी की कहानी

यही तो इश्क है भाग-५

nis1985   388 views   1 year ago

◆"इश्क के रंग में सराबोर होकर फाइनली मन्दिरी और आनंद माँ के साथ शॉपिंग को निकल पड़े।

एक छोटी सी कोशिश बेटी के मन की बात कहने की

soni   52 views   1 year ago

लोग कहते है कहीं कुछ छुटा तो नहीं अब उन्हें कौन समझाए कुछ नहीं सबकुछ तो छुट गया नैहर में...

यही तो इश्क है भाग-४

nis1985   606 views   1 year ago

""शादी की तैयारियाँ जोरो पे चल रही थी,आनंद और मंदिरी के घर पे ,,,समय पंख लगा के ऐसे बीत रहा था कि किसी को पता ही नही चल रहा था।

रिपोर्ट कार्ड

prakash   392 views   1 year ago

पिता ,पुत्री और उनकी स्कूल टीचर के बीच मजेदार संवाद , और पिता का अपनी पुत्री के प्रति प्यार जताना । ये शानदार और मजेदार कहानी अवश्य पढे ☺

फिर आओगी?

rakhi1706   514 views   1 year ago

रिश्ते हर व्यक्ति की अनमोल पूँजी होती है जिसकी अपनी एक महत्ता एवं गरिमा होती है...और पति पत्नी का रिश्ता तो खड़ा ही विश्वास की नीव पर होता है और जब कोई इस नीव को हिलाने की कोशिश करता है तो पत्नी एक अलग ही रूप ही अख्तियार कर लेती है...इसी भाव को दर्शाती रूपाली की कहानी मेरी कलम से....

यही तो इश्क है-३

nis1985   818 views   1 year ago

अब क्या मन्दिरी इस इश्क के बीज से अपने प्रेम की बगिया सजा पाएगी???????

यही तो इश्क है-२

nis1985   696 views   1 year ago

अब मन्दिरी की जिंदगी पूरी तरह से बदलनेे वाली थी, उसके जीवन मे भी इश्क की बहार आने वाली थी, और ये सिर्फ और सिर्फ आनंद की वजह से!

यही तो इश्क है-१

nis1985   545 views   1 year ago

जीवन में कभी एक ऐसा मोड़ आता है,जब हम किसी के लिए पूरी तरह बदल जाते है, शुरू- शुरू में ये चीजें कितनी अटपटी लगती हैं

रेत की सिलवटें

Akash Gaurav   255 views   1 year ago

वो उजली सुबह जो वक्त अंधेरों से लड़ रही थी, एक शाम स्याह होकर रात बन गई और अपने ही अंधेरे में गुम हो गई।

गुप्ता जी के बेटे की मुंह दिखाई

nehabhardwaj123   216 views   1 year ago

ये एक सपना, जो शशांक देखता है। कि उसे लड़की वाले देखने आए और तरह तरह के सवाल पूछने लगे तो उसे कैसा लगेगा।

खामोशी ...…...! कभी कभी हल भी है ।

nehabhardwaj123   889 views   1 year ago

ये कहानी है ,आस्था और किशोर की जिनके जीवन मे थोड़ी सी मायूसी और एक रूखापन है ,जिसे आस्था अपनी सूझ बूझ से हल करती है ।

Friends, lovers or nothing

negswell   301 views   1 year ago

Highlighting the red shift in the perception of modern day relationships, perplexing state of love and lust, evolution and rise of the hook up culture and the demise of old school romanticism.

विदाई- आत्मग्लानि एक पिता की !

nehabhardwaj123   312 views   1 year ago

ये कहानी है एक लड़की साक्षी और उसके पिता के रिश्ते की, एक बेटी की भावनाओं क , और एक पिता की आत्मग्लानि भी !