11
Share




@dawriter

कुछ अनकही बातें........!!

1 6       
ksingh777 by  
ksingh777


जब ये रातें तन्हाई भरी और खामोश सी होती हैं,

जब महकी कुछ यादें आस-पास अपना सेहरा सजाती हैं,

जब जिदंगी कोरे कागज सी महसूस होती है,

जब यादों के बीच खुद को बेचैन पाता हूँ,

तब मैं तुम्हें लिखता हूँ.....!!

जब वक़्त मुश्किल भरा होता है,

सफर में सन्नाटों का दौर होता है,

जब यादें आपस में उलझने लगती हैं और मुझे फिर से उसी मोड़ पर लेकर जाती हैं,

तब मैं दिल से उन लफ्जों को समेटने और बयाँ करने की कोशिश करता हूँ.....!!

हाँ .... तब मैं तुम्हे लिखता हूँ.....!!



Vote Add to library

COMMENT