यही तो इश्क है-३

अब क्या मन्दिरी इस इश्क के बीज से अपने प्रेम की बगिया सजा पाएगी???????

मेरी वो दुनिया

आज तुम मुझे इस मझधार में अकेला छोड़ कर खुद किनारे लगने की कोशिश कर रहे हो ना रवि, पर याद रखना जब तुम किनारे लगोगे ना तो इन सपनों की टूटी हुई काँच तुम्हारे पैरों में जरूर चुभेगी और तुम तब भी मुझे ही मेरे दुपट्टे से तुम्हारी जख्मों को पोछते हुए देखोगे

अम्मा !

ये कहानी है अम्मा की उनके जीवन मे आये बदलाव की, और उनके अथाह प्रेम सागर से सराबोर उनके पौत्र की ....... जिसका जीवन बदल जाता है अम्मा के जाने से ।

आखिरी रक्षा बन्धन

एक बहन और भाई के अटूट प्रेम और मृत्यु रूपी बिछोह के ताने बाने से बुनी एक करुण कथा..!

यही तो इश्क है-२

अब मन्दिरी की जिंदगी पूरी तरह से बदलनेे वाली थी, उसके जीवन मे भी इश्क की बहार आने वाली थी, और ये सिर्फ और सिर्फ आनंद की वजह से!

'वरना लक्ष्मी रूठ जाएंगी..'

एक बहू के मन की बात...हर स्त्री के अंतर्मन को छुएगी

यही तो इश्क है-१

जीवन में कभी एक ऐसा मोड़ आता है,जब हम किसी के लिए पूरी तरह बदल जाते है, शुरू- शुरू में ये चीजें कितनी अटपटी लगती हैं

विदाई- आत्मग्लानि एक पिता की !

ये कहानी है एक लड़की साक्षी और उसके पिता के रिश्ते की, एक बेटी की भावनाओं क , और एक पिता की आत्मग्लानि भी !

रिपोर्ट कार्ड

पिता ,पुत्री और उनकी स्कूल टीचर के बीच मजेदार संवाद , और पिता का अपनी पुत्री के प्रति प्यार जताना । ये शानदार और मजेदार कहानी अवश्य पढे ☺

'दोस्ती से ज़्यादा प्यार से कम'-एक प्रेम कहानी

जब दोस्ती प्यार में बदलती है तो सब अच्छा लगता है। हर दिन खुशनुमा सा लगता है। लेकिन जब प्यार प्यार दोस्ती में बदलती है तो एक अजीब सी टीस उठती है दिल मे जिसे न छुपाया जाए न सहा जाए।

Friends, lovers or nothing

Highlighting the red shift in the perception of modern day relationships, perplexing state of love and lust, evolution and rise of the hook up culture and the demise of old school romanticism.

वो अनकहा सा इश्क

सीमा को अजय से कोई शिकायत नही थी , उसे अपने त्याग और समर्पण का कोई मोल भी नही चाहिये था

मंथरा

घर घर मे पाए जाने वाले ऐसे लोग जो फ़ूट डालने की वजह बनते हैं ऐसे लोगों का आईना है ये कहानी

यही तो इश्क है भाग-४

""शादी की तैयारियाँ जोरो पे चल रही थी,आनंद और मंदिरी के घर पे ,,,समय पंख लगा के ऐसे बीत रहा था कि किसी को पता ही नही चल रहा था।

तलाक की ओर बढ़ता पति-पत्नी का रिश्ता

रिश्तों की अहमियत करें, जिन्दगी खुशनुमा बन जाती है।

यही होता प्यार है क्या?

‘दूबे जी, क्यूँ खेलते हो ऐसा खेल? आप खिलाड़ी हो और मैं अनाड़ी की तरह हर बार उलझ जाती हूँ इस खेल में । क्यूँ करते हो मेरे साथ ऐसा?’

चिरैया” जो मर कर भी उड़ती रही

भगलू ताऊ ने हुक्के का दम मारते हुए अपना हुकुम बजाया “101 क्या, पूरे 251 मिलेंगे, बस चिरैया बाई को नचवा दो । वो नाचेगी तबै मिलेंगे पैसे । बिना उसके नाचे तो चवन्नी ना मिलेगी”

तेरा साथ

एक लड़की का जीवन दो परिवारों की समझ और व्यवहार पर निर्भर करता है-एक माता पिता और दूसरा पति। माता पिता अपनी बेटी को शायद इसी लिए कोसते हैं कि उनको उसके पैदा होने के साथ ही उसके पति और ससुराल कैसा होगा का डर सताने लग जाता है।

रेत की सिलवटें

वो उजली सुबह जो वक्त अंधेरों से लड़ रही थी, एक शाम स्याह होकर रात बन गई और अपने ही अंधेरे में गुम हो गई।

ख्वाब सरीखे दिन

आज जब जीवन के हर पहलू पर भौतिकतावाद और व्यवहारिकता हावी है, प्यार भी इससे अछूता नहीं रहा। ऐसे में आकाश की कोमल ख्वाब सरीखी भावनाओ और पूजा की निहायत व्यवहारिक सोच के बावजूद उनके बीच जन्मा रिश्ता क्या रंग लाया.....

फिर आओगी?

रिश्ते हर व्यक्ति की अनमोल पूँजी होती है जिसकी अपनी एक महत्ता एवं गरिमा होती है...और पति पत्नी का रिश्ता तो खड़ा ही विश्वास की नीव पर होता है और जब कोई इस नीव को हिलाने की कोशिश करता है तो पत्नी एक अलग ही रूप ही अख्तियार कर लेती है...इसी भाव को दर्शाती रूपाली की कहानी मेरी कलम से....

कसक

अमीना ने जैसे ही दरवाजा खोला, देखा कि सामने से मेधावी चली आ रही है।

Love Never Fades Away

Does Love have that power that it could save the life of the person you love the most? What Happens When a Happy Relationship comes into that situation where it makes us feel depress and Alone? Does Love Fades Away?

रिश्तों की कॉम्प्लिकेशन

आखिर वो दिन आ ही गया जब जतिन ने रिया से अपने दिल की बात कह दी,उस दिन जतिन बहुत सहमा हुआ सा था उसे पूरा विश्वास था कि रिया उसे ना नहीं बोलेगी