hema

1

Most recent posts

यही होता प्यार है क्या?

‘दूबे जी, क्यूँ खेलते हो ऐसा खेल? आप खिलाड़ी हो और मैं अनाड़ी की तरह हर बार उलझ जाती हूँ इस खेल में । क्यूँ करते हो मेरे साथ ऐसा?’

पिंजरा जिसका दरवाज़ा खुला था

परितोष के बैचैन दिल पर प्यार भरा हाथ रखने की कोशिश में वो परितोष की शर्ट की बायीं जेब पे जा बैठी । परितोष की आँख खुल गयी उसने बन्दिनी को अपने दोनों हाथों में प्यार से लिया और चूम लिया । प्यार से उलाहना देते हुए कहा ‘क्या हो गया था तुम्हें? दोबारा ऐसा मत करना । कुछ खाओगी या अब सुबह ही खाना होगा ‘?

गोपाल फ़िर से जी उठा stopdomesticviolence

कभी कभी स्थितियाँ ऐसी हो जाती हैं कि कहानी के सभी पात्र किसी न किसी वजह से कमज़ोर और मजबूर दिखते हैं ..लेकिन नियति सबको एक मौका ज़रूर देती है अपनी भूल का प्रायश्चित करने का ... यह कहानी है उस घरेलू हिंसा की जिसकी जड़ है बेमेल विवाह...

Some info about hema

EDIT PROFILE
E-mail
FullName
PHONE
BIRTHDAY
GENDER
INTERESTED IN
ABOUT ME