LIFE

FILTERS


LANGUAGE

उम्मीदों की कश्ती- १

abhidha   122 views   2 years ago

पिछली बारिश पहाड़ों से घिरे छोटे से कस्बे में मैं एक स्टडी टूर पर था, कुछ जड़ी-बूटियाँ खोजने गया था।यूथ हॉस्टल से सुबह-सुबह निकल पड़ता मैं।अभी अपने कमरे से बाहर ही आया था कि केयर टेकर ने आवाज़ दी- 'साब जी वो जन्तो के यहाँ पकोड़े बहुत अच्छे बनते हैं, लौटते में खाते आना, खाने में देर हो जाएगी

कर्तव्य और अधिकार

utkrishtshukla   48 views   2 years ago

कर्तव्यों का ढिंढोरा पीटना एक मूर्खतापूर्ण​ कार्य है।

the Truth

shivangi   72 views   2 years ago

life is unpredictable. It reflects different shades but certainly no phase is permanent. Life is more about how you see it. Truth and darkness are parts of it and the one who swims out in every situations is the real winner

समय की पीड़ा

harish   9 views   2 years ago

समय दूसरे समय से कह रहा है कि बताओ मैं इन्हे इनके समय के बारे में कैसे बताऊ?