78
Share




@dawriter

पापा तुम्हारे नाम एक खत

0 32       
shashank25 by  
shashank25

कब नज़र में आयेगी बे-दाग सब्जे़ की बहार,
खून के धब्बे धुलेंगे कितनी बरसातो के बाद ।

डियर पापा,

जानते हो आप आज के पेपर में ये लिखा था पर इत्ती बड़ी बड़ी बातें समझ नई आती मेक्को और वो टीचर दीदी घर आई थी कह रही थी कि कोई फैज़ साहब का ये शे'र है जो सुकमा वाले जवानों पर फिट बैठता है ...!

अच्छा ये सब बात बाद में पापा बहुत दिन से कोई लेटर नई आया आपका इसलिये ये वाला लिख रही हूँ । भोत सारा गुस्सा हूँ मल्लब भोत सारा आपसे, ना 4 दिन से कोई फोन आया, और ना आपका कोई लेटर लाये वो दाढ़ी वाले बूढ़े अंकल, "पापा कैसे हो आप ?" जल्दी बताना हाँ ।

आप जानते हो परसों मेरा रिजल्ट आया पूरे क्लास में मैं सेकंड आई, वो सोनू को जानते हो ना आप वो फस्ट आया और मेक्को चिढ़ा रा था पर मैं गुस्सा नई हुई हाँ अगली बार मैं फस्ट आऊँगी अब आप गुस्सा ना होना, मैं डोरेमोन भी नई देखूँगी । क्लास फोर्थ की न्यू बूक न्यू ड्रेस भी लेना है और आप इस बार न्यू स्लेट भी दिलाने वाले थे वो भी लेना है । जानते हो वो बार्बी डोल वाला न्यू स्टिकर गुप्ता अंकल की दुकान में मिलता है उसे भी ले देना ना ।

आप जानते हो दादी के बैग से परसो ही खूब सारा चींटा निकला वो जो आप बिस्कुट दिये थे ना उसे रख कर भूल गयी थी हमारी भुलक्क्ड़ दादी अम्मा । एक चींटा तो छोटू भाई को भी काट लिया वो रो रा था लेकिन ना बहुत बदमाश हो गया है ये, मैं जब भी सोती हूँ मेरी चोटी खींच देता है और मेरी सारी गुड़िया बिखेर दिया था। एक सिक्रेट बात बताऊँ आपको मैने उसका खिलोना जो आप मेला से लाये थे उसे मैने आँगन की क्यारी में लगे गुलाब के पेड़ के पीछे मिट्टी में छुपा दिया है वहीं आपकी एक फोटो और 5 रुपया का सिक्का भी दबा दिया है आप किसी से कहना नई, जब आओगे तो दिखाऊँगी ।

पापा एक शिकायत और करूँ मम्मी ना मुझे रोज रात सोने टाइम बोर्नवीटा वाला दूध पिलाती है जो मुझे पसंद नई, आप मम्मी को डाँट लगाना पर पापा आप जानते हो मम्मी सुबेरे से चुप हो गयी है, कुछ खायी नई, कुछ बोलती नई । ना मैने बदमाशी की ना भाई ने पेंट में सुसु पर मम्मी गुस्स्सा है, थोड़ी डरी है । दिन भर आपको फोन करती रही आप फोन उठाये नई तो रोने लगी और आज तो टीवी में सिरियल की जगह न्यूज देखती रही । दादी भी चुप चाप बाहर वाले बरामदे में बैठी है जहाँ आपकी वो फ़ौजी ड्रेस वाली फोटो टंगी है । मम्मी का क्यूट फेस रोत्लु सा रेड रेड हो गया है ।

अरे हाँ मैं तो पूछना भूल गयी वो टीचर दीदी कुछ सुकमा का बता रही थी आप वहीं हो ना पापा, हमारे स्टेट के सबसे प्यारे फोरेस्ट एरिया में । वो गंदे माॅन्सटर अंकल लोग फ़िर से लड़ाई करने लगे क्या वहाँ ? वो इतना क्यूँ लड़ते है पापा आप लोगो से ? पर मैं जानती हूँ आप उनसे ढीशुम ढीशुम कर उनको हरा कर घर जल्दी आओगे और मुझे फ़िर से टिमटिमाते सितारों के बीच हमारे हिरो सोलजर की कहानी सुनाओगे । और हाँ ये वाला लेटर मैं भगवान जी को दे दूँगी, दादी कहती है भगवान जी जल्दी से काम करते है । और जल्दी से काम करने के लिये उनको अपनी डेरिमिल्क भी दे दूँगी, जैसे ही आपको ये लेटर मिले आप जल्दी से आना घर । अब बाय-बाय मम्म्मा वो गंदा वाला दूध ले कर आती होगी मैं लेटर भगवान जी को दे कर आती हूँ वापस कमरे में ।

अच्छा पापा आप घर आओगे ना ...?

खूब सारा प्यार के साथ
आपकी छुटकी लाडो ।

#पंडित


©Shashank tiwari



Vote Add to library

COMMENT