Murdered by others

Sometime force marriage social abuse acid attack..woman is hunted ....

कौन आज़ाद है?

वो लाहौर से भागा तो अमृतसर में जा फंसा, उसपर बेटी के साथ बलात्कार का आरोप था। और वो अपनी बेटी से मिलने के लिए बेताब हुआ जा रहा था।

देश-सेवा

इस कहानी के जरिये मैं सबसे ये कहना चाहती हूँ कि अगर हम सब ये ठान ले कि हम अपने देश के योग्य, ईमानदार और देश के प्रति समर्पित नागरिक बनेंगे तो हमारे देश को विकासशील से विकसित राष्ट्र बनने में देर नहीं लगेगी।

Just be who you are..

Be the one who you are. What other wants from you should not matter..

Sparkle!! Shine!!

Be your own superhero. Sparkle!! Shine!!

याद रहे कोई भी धर्म या नफ़रत इंसान की ज़िंदगी से बड़ा नहीं

सुना है अलवर में गौतस्कर बता कर एक पशु व्यापारी की हत्या कर दी गई । कुछ लोग खुश हैं कि गौ वध करने वालों की संख्या से एक कम हुआ, कुछ लोगों के लिए ये शर्मनाक हादसा है ।

​एक कदम….

फैसले बुरे हैं थोपे गए हैं इंसान मर रहे हैं कुछ शोर कर रहे हैं कुछ की दास्तान है रूलाने वाली आखों में सबके पानी

लाल चच्चा

मिट्टी के तन का सदुपयोग । जीवन के सोच को बदलते हुए

मैं_भिखारी_हूँ‬…

जो मैं लिखने जा रहा हूँ वो वही पढ़ें जिन्हे शब्द पीड़ा महसूस करनी आती है…

बहनजी टाइप

swa
swa

8 दिन हो गये । सृष्टि जिद पकड़कर बैठी है । नौकरी करेगी। आख़िर उसकी डिग्री किस काम की है ? सिर्फ घर संभालती रहेगी? आखिर वो गोल्ड मेडलिस्ट है। ऋषभ बताओ मैं क्यों नहीं कर पाऊंगी नौकरी? कितनी लड़कियां करती है। तुम्हें क्या लगता है? मैं नौकरी और घर मैनेज नहीं कर सकती?

भीड़ के अलग अलग चेहरे

“हाँ हाँ महराज जाइए ना हम कहाँ रोक रहे हैं । मगर एक बात कह दें आप जईसा लोक सब के चलते देस पिछड़ा है । लालच है ना जो वो देस की जनता के मन से जब तक नहीं जाएगा देस का भला संभब नहीं है महराज ।”

जो हम फेंक देते हैं उसी का ना मिलना इनकी जान ले लेता है

आज माँ के हाथ का खाना खाने का मन नहीं कर रहा तो चलो बाहर चलते हैं दोस्तों के साथ । होटल में बैठ कर शाही पनीर चिली चिकेन बटर नान ये वो लटरम पटराम मंगाया जीतना मन उतना खाया बाकि का छोड़ कर डकार ली और चल दिए । कभी कभी तो गुस्से में थाली उठा कर फेंक दी ।

शब्दों का महत्व

एक उभरती लेखिका का निवेदन इस समाज के हर व्यक्ति से।

वक्त के झरोखा

समय जो निकल गया या आने वाला है... हमनें कैसे व्यतित किया या हमारे क्या प्लान है .. यही सब कुछ है जीवन में वक्त के साथ समझ बड़ती है.. पर उतनी नहीं जितना हम समझ लेते हैं..🙏 तो मैं लाया हूं अपनी कुछ यादें अपने कुछ प्लान.

छोटे और ज्ञानी

ये हम पर है कि दुर्योधन बनना है कि युधिष्ठिर

मेरा देश बदल रहा है....

मेरा देश बदल रहा है मेरी खुद की नजरिया है.... मैंने खुद आंखों से देख रहा हूं जो चीज तारीफ के काबिल होती है उनकी तारीफ करनी चाहिए....

अच्छा दिन

arn
arn

Never loose hope.It's your time

​क्या तुम जानते हो

क्या तुम जानते हो गुलामी किसको कहते हैं ?

ईश्वर के होने का प्रमाण ( कहानी )

एक समय एक बहुत ही पहुँचे हुए संत हुआ करते थे । हर गाँव हर जगह घूम घूम कर ज्ञान बाँटते और लोगों का ध्यान ईश्वर की तरफ आकर्षित करते । बड़ा।नाम था उनका । उनके प्रवचन को सुनने के लिए लोग सारे काम धंधे छोड़ कर आ जाया करते ।

Respect Human

Respecting people not on the basis of gender but humanity.

अच्छी माँ बन जाऊं

एक पिता जब माँ बनता है तब एक पुरुष अपनी विपरीत दिशा में चलता है

Suicide

For that guys who do suicide because of one girl left.

पापा के नाम एक और चिट्टठी

पापा आपके लिए चिट्ठी है, कितने दिनों से नही लिखी थी ना । पढ़िएगा ज़रूर और आशीर्वाद दीजिएगा अपने नालायक बेटे को ।

पिता के रंग

पिता उस छेनी और हथौड़े की तरह होते हैं जो खुद के चेहरे की उदासी छुपा कर चोट करते हैं , इतनी चोट जो तुम जैसे पत्थर को नायाब मूर्ती में तराश दे |