32
Share




@dawriter

......इंतजार करना

0 24       

 

 

ख्वा़बों का पंछी,

ज़रा सोया है अभी....

परवाज़ का उसकी

इंतजार करना........

 

चाहतों के फूल

दिल में खिलेंगें जरू़र..

कलीयों के उगने का

इंतजार करना.......

 

हौंसलें की लाठी

ज़रा झुकी-सी है..

बुलंद होगी आवाज़ 

इंतजार करना......

 

विश्वास की तस्वीर

जरा़ धुंधली-सी है..

साफ होगा आईना

इंतजार करना........

 

यूं बेबस-सा समझ

मुर्दा ना समझना..

जिंदा हूं मेैं, मेरा

इंतजार करना.....

 

#Rashmi



Vote Add to library

COMMENT