0
Share




@dawriter

बेचारा नहीं हूँ

0 2       
dhirajjha123 by  
Dhiraj Jha

बेचारा नही हूँ
मैं बस मायूस हूँ 

हारा नहीं हूँ 
तरस मत खाओ मुझ पर

मैं कोई बेचारा नहीं हूँ 
ये तो अपना बन कर

कुछ दोस्तों ने दिया है धक्का
मैं अपनी गलतियों की वजह से

लड़खड़ाया नहीं हूँ 
मत समझो कि तुम्हारे रहमों 

का मोहताज हूँ मैं 
मेरी तन्हाई संभाल लेगी मुझको

मैं कोई बेसहारा नहीं हूँ 
ये तो मौके की तलाश में 

घूम लेता हूँ इधर उधर 
वरना फिदरत से 

मैं कोई आवारा नहीं हूँ 
तरस मत खाओ मुझ पर

मैं कोई बेचारा नहीं हूँ 
धीरज झा



Vote Add to library

COMMENT