INSPIRATIONAL

FILTERS


LANGUAGE

आवाक

Manju Singh   744 views   1 day ago

दहेज प्रथा हमारे समाज पर एक बदनुमा दाग है। इसका उन्मूलन करने के लिये युवा पीढी को ही आगे आना होगा। पढ़िए लघुकथा 'आवक'

परवरिश

SHIKHA SRIVASTAVA   1.15K views   4 days ago

बदलते वक्त के अनुसार बच्चों में सही संस्कार देने की कोशिश दिखाती एक कथा

आखिरी_विकेट

mrinal   1.02K views   1 week ago

आउट होने की कभी सोचना भी मत। क्योंकि तुम चौबे के आखिरी विकेट हो... आखिरी विकेट!"

मासिकधर्म या कुरीति

nis1985   1.38K views   1 week ago

शर्म की वजह से ही आज ग्रमीण या सामान्य महिलायें भी न तो इस विषय पर खुलकर बोल पाती और जागरूकता की कमी की वजह से ही उन तक मासिकधर्म से सम्बंधित कई महत्त्वपूर्ण जानकारी नहीं पहुँच पाती और न ही वो【 पेड 】इस्तेमाल की कोई जानकारी रखती हैं

जवान होते भारत में बुजुर्गों के लिए कोई आदर नहीं?

Maneesha Gautam   183 views   2 weeks ago

ये कैसा जावान भारत है जिसे अपने जडो़ से प्यार नही

बेटी की उड़ान !!

nehabhardwaj123   1.27K views   3 weeks ago

ये कहानी है शर्मा जो की जिन्होंने अपनी बडी बेटी की शादी उसकी पढ़ाई पूरी होने से पहले ही कर दी पर उन्होंने अपनी इस गलती से सबक लेते हव छोटी बेटी को खूब पढ़ाया लिखाया।

प्यारा रिश्ता .... सास बहू का

Soma Sur   1.05K views   3 weeks ago

कोई भी बहु घर तोड़ने का सोच कर शादी नहीं करती और न तो कोई सास, बहु को सताने को ही जीवन का ध्येय समझती है। हम पहले से ही अपनी सोच बना लेते हैं बहु है तो ऐसा ही करेगी, सास है तो ऐसा ही करेगी।

दो लक्ष्मीयों के बाद कुबेर तो आते ही है.

Maneesha Gautam   590 views   1 month ago

आज हम लोग शरद के घर गए थे चौक की पूजा में, सब लोग वहाँ बहुत खुश थे।

निश्चय

kavita   636 views   1 month ago

बाल विवाह की कुप्रथा से मुक्त होते एक निम्नवर्गीय परिवार की कथा

अभिलाष का फूल

poojaomdhoundiyal   14 views   1 month ago

एक अभिलाष का फूल पनपा मन के अंदर

माँ

Nidhi Bansal   58 views   1 month ago

माँ की ममता उस का प्यार,कोई समझे कैसे उसको,माँ की महिमा है अपार

कप्तान/कोच

kumarg   151 views   1 month ago

कुछ ही समय बाद वो फिर से मैदान पर था अबकि बार कोच की भूमिका में।

"गुड्डू"

shivamtiwari   601 views   1 month ago

कहानी एक ऐसे लड़के की जो अपनी खामियों को अपनी मजबूती बनाना चाहता है।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ… उसके बाद क्या????

Mona Kapoor   37 views   1 month ago

बेटी को बचाकर व उसे पढ़ाना ही केवल आवश्यक नही है उसे समाज में एक ऊँचा दर्जा देना भी अति आवश्यक है।

इंसानी भेदभाव व दुश्मनी… जिम्मेदार शायद हम खुद||

Mona Kapoor   23 views   1 month ago

समाज में आपसी सहयोग व एकता को बढ़ावा देने के लिए पहला सहयोग हमारा स्वयम का ही होना चाहिए ।