HOMOSEXUAL

FILTERS


LANGUAGE

ख़्वाहिश की ख़्वाहिश पूरा करने तक का सफर

vinay   420 views   1 year ago

(ये कहानी न केवल समलैंगिकता पर आधारित है बल्कि आम लोगो के जीवन में प्रेरणा स्त्रोत भी है आप सभी जरूर पड़े व अच्छी लगे तो लाइक , कमेन्ट और शेयर जरूर करें )

अधूरी कहानी

arn   217 views   1 year ago

संजू जय के प्यार मे पूरी तरह पागल था, वो अब बिना उसके नही रहना चाहता था, उसका प्यार समय के साथ साथ और बढ रहा था तो जय का प्यार अब ठंडा पडने लगा था, लोग अब उसे जानने लगे थे, और सबके सामने संजू का साथ साथ रहना उसे असहज करने लगा, और वो अब जैसे तैसे उससे दूरी बनाना चाहता था, जय के................

शुभ विवाह-II

Maneesha Gautam   748 views   4 months ago

आज रात उसने कुंदन को लाइब्रेरी में बैचेन टहलते देखा,परेशान तो वो भी था पहले दिन से, पर क्या थी इस सबकी वजह.

शुभ विवाह -I

Maneesha Gautam   1.19K views   4 months ago

वो तो मालिक आपकी ही कृपा है आपने ही, बड़े बाबा, छोटे बाबा के साथ ही उसे भी पढा़ दिया, मेरे बस में तो न था.

शुभ विवाह-III(अंतिम)

Maneesha Gautam   995 views   4 months ago

विवाह वो होता है जिसमें बंधने वाले खुश रहे.

Confused me

jhalak   49 views   1 year ago

In this society even a mother can't handle her lesbian daughter or gay son..this is where the people of our country fails and fails

જિંદગી

Anonymous
  19 views   6 months ago

જિંદગી કેમ બધા સુખ કોઈને નથી આપતી, અને ક્યારેક તો કોઈકને સુખ જ નથી આપતી. ક્યાંક શારીરિક ક્યાંક માનસિક તો ક્યાંક આર્થિક અને ક્યાંક ત્રણે સુખ નથી આપતી.