बाबुल ना बिहाओ मोहे ओ संग

एक पिता ने अपने ऊँचे रसूक और जात पात के लिए अपनी बेटी को उसके प्यार से अलग कर दिया।  और बेटी ने भी अपने पिता के मान के लिए स्वीकार ली अपने प्यार से जुदाई। कर ली अपने पिता के समाज के लड़के से शादी। पर ऐसा क्या हुआ की आज वही बेटी एक बार फिर से दुल्हन बनी।

A marriage without love

We all fall in love. But sometimes, the mistakes demand everything that we own. Everything that we used to call 'ours', is suddenly snatched in to the black hole. This store resonates something similar. A story of how my love became my everything, and eventually; snatched everything I had.

सफ़र 'जिंदगी के पतंग से परिंदा हो जाने की कहानी'

यह कहानी निम्मी नामक लड़की की है, जिसे ना चाहते हुए भी अपने पिता की खुशी के लिए एक एन आर आई से शादी करनी पड़ती है। यह शादी उसकी जिंदगी बदल देती है। निम्मी के ज़िंदगी की डोर इस हाथ से उस हाथ होते हुए ना जाने किस मुकाम तक पहुंचे।

I'm a girl

The poem written below is all about a girl who is facing force marriage by her father and reflects her mental condition. Being a prey of forced marriage,she expresses her grief and sorrow.

Forced by you dad

This is a poem about a girl who is forced by her dad for marriage. She doesn't want to get married but still her dad forced her. After protesting too,her dad didn't accept it.

मेरे अपने मेरे दुश्मन

पूरे लेख के माध्यम से इस बारे मे बताया गया है कि ऐसी कौन सी परिस्थिति बनती है, कि परिवार वाले एक लड़की की जबरन शादी के बारे में सोचते है और वह लड़की कैसे उस शादी को महसूस करती है।

Forced marriage

The agony of a woman , her pain her dented emotions and her cries .... her sacrifice her desires crushed ....

Resplendent Wings

Its a short piece based on a girl who is being forced to marry a guy just because he has a lot of wealth and pomp, without noticing the inner dark side. The girl in turn, took a bold step and courageously stopped this forced marriage.

एक बेटी की उम्मीद

अमीर और गरीब हर प्रकार के परिवार में जबरन विवाह की समस्या बनी हुई है मैंने एक पुत्री बन उसकी व्यथा कहीं है

She could do better

This poem is about what a woman could have done had she not been married off forcefully to someone. It depicts the sad reality in our country and the fate the girls and women have to go through.

She was Forced!

This piece of literary stuff describes the present era of forced marriage, which has become a threat to the existence of females.

The Day!

We live in 21st but still there are families who force their daughters to marry at young age. They believe that happiness of a girl lies in settling down soon and live by the choices of her husband. Such thinkings many times leads to a harsh step by young girls.

अरेंज मैरिज

" बधाई हो आप बाप बनने वाले हैं। " सुनकर उसकी खुशी का ठिकाना न रहा उसने उत्साह से पूछा "कब? " डॉक्टर मुस्कुराते हुए बोली " बस चार महीने और इंतजार। " उसकी खुशी जाती रही उसने धीरे से पूछा " अगर हम अभी न चाहें तो। "

जबरन विवाह

संयुक्त राष्ट्र ने जबरन विवाह को मानवाधिकार के दुरूपयोग के अन्तर्गत चिन्ह्ति किया है क्योंकि यह मानव की स्वतंत्रता और स्वायत्तता के अधिकारों का उल्लंघन करता है।

Forced Marriage

Forced Marriages are a very common thing to see in India. I have tried to pen down the feelings and thoughts of the girl who is forced to marry someone she doesn't want to.

"सपना देखा था"

"देखा था एक सपना,सपना देखा था पूरा ना हुआँ पर,जो सपना देखा था"!! "पंख लगके उड़ना है,ये सपना देखा था बनाना अपना ही मुकदर है,ये सपना देखा था"!!!!

I was your daughter

A poem on forced and early marriage, the unheard voice of a daughter that is pieced into some 300 words and an underrated description of her woe and misery.

Unfortunate

Again a woman get hunted by forced marriage.... Here are her words...

अब तो बहुत देर हो गई

कुछ कहानियां मनोरंजन से किनारा कर के सिर्फ इसलिए लिखी जाती हैं कि उसे पढ़ कर समझा जाए, जो गलतियां हुईं वो दोहराई ना जाएँ । आप भी पढ़िए इसे और देखिए कहीं अनजाने में आप भी कोई ऐसी ही गलती तो नहीं कर रहे ।

मैं बहुत खुश था और फिर…

कमाल है सर कनपट्टी पर पिस्तौल रख कर सच्च बताने को कहते हैं । इसीलिए तो डरती है आपसे । अच्छा सर ये सब छोड़िए आप यह बताइए आपने कभी पेड़ लगाया या लगवाया है सामने खड़े रह कर ?

आप बदलिए समाज अपनी सोच अपने आप बदल देगा

आप खुद को बदलिए और फिर देखिए आप पर हंसने की धमकी देने वाला ये समाज अपनी सोच अपने आप कैसे बदलता है