DOMESTIC VIOLENCE

FILTERS


LANGUAGE

Finding solace in the most tragic way.

writerinmaking0   369 views   1 year ago

An attempt to modify the society through my thoughts that aim to question the dynamics of domestic violence. My main concern is to talk about how domestic violence works in a place we least expect it to.

An unforgettable fear

jhalak   38 views   1 year ago

Woman is the best creation of God ,only she can sit on the chair of God in the form of Mother.....but the best have to face the worst...

A stamped on Rose

misswordsmith   133 views   1 year ago

A small article where I have tried to picturise the scenario of a woman facing domestic violence in both physical and mental form.

लघुकथा- रिश्तों की नीलामी

rashmi   372 views   1 year ago

पैसों से खरीदकर बनाए गए रिश्तें और उन पर हुकुमियत की दास्तां

घरेलू हिंसा: एक संकीर्ण सोच

utkrishtshukla   765 views   1 year ago

........हमें महिलाओं के प्रति अपनी संकीर्ण सोच बदलनी होगी और बाहर निकलना होगा ऐसी रूढ़िवादी परम्पराओं से जो उन्हें सम्मान व बराबरी का दर्जा नहीं दे सकती हैं।..........

घर का मामला

varsha   547 views   1 year ago

आज के समय में जब हम अपने आसपास कुछ भी गलत होता देखकर भी आंखें मोड़ लेते हैं तो हम कैसे अपने लिए संवेदनशीलता की उम्मीद रख सकते हैं।

शादी के बाद का बर्थडे

kavita   1.35K views   1 year ago

संतान द्वारा माता पिता को खुश रखने की चाह ....अर्थात बच्चे बड़े हो गए ...! प्रेम, विवशता, और उनके अनकहे दर्द को दर्शाती एक लघु कथा

दर्द

Pallavi Vinod   1.02K views   9 months ago

हर लड़की के अपनी शादी को लेकर कुछ सपने होते हैं,लेकिन जब वो सपने टूटते हैं तो उनकी चुभन जिंदगी का सबसे बड़ा दर्द बन जाती हैं।

सुलोचना....( सच्ची कहानी )

dhirajjha123   128 views   1 year ago

बदलाव का अधिकार हर किसी के पास है । पर इस अधिकार का पूरा फायदा उसी को मिलता है जिसमें लड़ने की ताकत है, जिसमे हक़ छीन लेने की हिम्मत है । जो लड़ सकता है अपनों के ख़िलाफ, जो चुनौती दे सकता है सनातन से चले आ रहे बेकार के रिवाज़ों को

498A कितना सफल कितना असफल

swati21   175 views   1 year ago

IPC 498A The most misuse law. आज तक सरकार भी इस कानून को सही अर्थो में लागू नहीं करा पाई है।

Domestic violence- hindi poem

ruinedstorm   429 views   1 year ago

Please like it, share and comment if it shakes you. Women gives the birth and deserves the respect. She is the sole creator of life, new life.

रोटी 20 सेंटीमीटर गोल होनी चाहिए।

Maneesha Gautam   988 views   10 months ago

अपनी बेटी को माफ कर दिजिए पापा,मै तलाक चाहती हूँ

तन के घाव से भारी मन के घाव जिनकी पीड़ा न समझे कोई

Maneesha Gautam   1.11K views   1 year ago

कभी शारिरिक घाव मानसिक घाव को और गहरा कर देते है। तन के घाव को तो समय भर देता है,पर मन के घाव और गहरे होने लगते है। घाव ओर ज्यादा दुख देने लगते है जब समाने वाले को अपनी गलती का अहसास ही नहीं होता।

YOUR HATEFUL SURVIVOR

aesha   242 views   1 year ago

A very short open letter to my ex abuser. You were a mistake I choose. But I have found peace away from you

Consensual Rape

mehakmirzaprabhu   125 views   1 year ago

Marital rape is a form of domestic abuse that is never spoken about, infact mostly not considered as a reason to stand up against by the women it self.