jyoti or rajdeep

jyoti or rajdeep

0

Most recent posts

बहू हूँ कोई गुलाम नहीं

बहू होने का अर्थ यह नहीं होता कि वह अपनी जिंदगी अपने हिसाब से न जीए, बहू होते हुए भी अपने फैसले लेने का अधिकार होना चाहिए

हाउस वाइफ का अस्तित्व

हाउस वाइफ का भी अस्तित्व होता है

बहू की उड़ान

बहू बन कर केवल घर की जिम्मेदारी तक सिमट कर नहीं रहना चाहिए बल्कि अपनी पहचान बनानी चाहिए।

मां बेटी सा रिश्ता सांस बहू का

सासं भी मां बने तो सांस बहू का रिश्ता भी खुबसूरत रुप ले सकता है

संसकारी से संस्कारहीन बहू

अपने हक और सम्मान के लिए आवाज उठाने वाली बहू अससंकारी कहलाती है।

सहयोगी पति

पति के साथ से पत्नी भी कामयाब हो सकती है

Some info about jyoti or rajdeep

  • Female
  • 05/02/2018

Very emotional and like towritearticles and want to be famous in mywritting.

EDIT PROFILE
E-mail
FullName
PHONE
BIRTHDAY
GENDER
INTERESTED IN
ABOUT ME