YOUR STORY

FILTERS


LANGUAGE

क्षितिज के पार

rgsverma   87 views   2 years ago

"...इस बीच जो बात मुझे उलझन में डालती रही वह सृष्टि के प्रति मेरी सोच और उसको लेकर आत्मग्लानि थी. मुझे लगता था कि उसे मैंने मंझधार में छोड़ दिया था..." (कुछ चुनींदा अंश)

एक मुलाकात

abhi92dutta   85 views   2 years ago

महानगरों के जीवन का अनछुआ पहलु । एक काला सच

विवाह

mrinal   83 views   2 years ago

पत्नी की तन मन धन से सेवा करते पुतोहू को देखकर उनका मन द्रवित हो गया और बेटा को गले लगाकर बोले," तुमने मेरी आँख खोल दी। हम नसीब वाले हैं कि ऐसी पुतोहू मिली हैं । हमें गर्व है तुम पर।

घर वाकई स्वर्ग है

dhirajjha123   81 views   2 years ago

घर में घुसते ही पापा वाला खाली पलंग जब तक रुलाए तब तक माँ की मुझे देख चमकती आँखें मुस्कुराने पर मजबूर कर देती हैं और लगता है माँ में ही कहीं पापा भी बाहें फैलाए सीने से लगाने को बेचैन हैं

व्यापार वर्धक यंत्र

kumarg   78 views   2 years ago

इस बरसात में लकड़ियों के खरीदार मिल रहे हैं । पहले तो मुझे लग रहा था श्मशानघाट पर दुकान खोलकर गलती कर दी। लेकिन भला हो उन पंडितजी का अब तो धंधा चौचक हो रहा है पिछले दो घंटे में बारिश के बावजूद लोग घाट की दुकानें छोड़कर मेरे पास आ रहे हैं । "

रीयूनियन

abhi92dutta   75 views   2 years ago

बचपन के चार दोस्त । पंद्रह साल बाद “रीयूनियन” का प्लान ।

Just For Love!

Rajeev Pundir   70 views   2 years ago

Where love can be divine, sacred and the name of sacrifice for some, it can be plagued by cynicism, obsession and possessiveness for the others. Read the story to know the other aspect of love ; compelling a few to commit unthinkable, unimaginable ghastly acts just in the name of love.

WHERE DOES AKRAM MALIK STAY?

mehakmirzaprabhu   66 views   2 years ago

Stories reflecting today's times of fear, mistrust and love

कश्मीर : जन्नत या उजड़ा चमन

poojaomdhoundiyal   65 views   1 year ago

भारत का बेहद खूबसूरत राज्य है कश्मीर। कहते हैं कि कश्मीर जन्नत है। कश्मीर भारत का ताज है। किताबों ,किस्से कहानियों में कश्मीर की ख़ूबसूरती के किस्से सुन मन मचल जाता था। उसपे फिल्मों में तो इसे और भी खूबसूरती से दर्शाया जाता , इसकी खूबसूरती पर गीत लिखे जाते।

कौन हो तुम?

udyalkarai   62 views   2 years ago

जवाब एक स्त्री का समाज के उन लोगों को जो बस उसे दबाना चाहते हैं।

किसान आत्महत्या का खौफ़ उनके बच्चों के दिलो में

vandita   61 views   2 years ago

पिछले कुछ समय मे किसान बेबस हो आत्महत्या कर रहा है। मैंने इस कहानी के माध्यम से एक किसान परिवार की बच्ची का डर दिखाया है कि किस तरह से एक बेटी अपने पिता के लिए डरी हुई है कि कही वो भी आत्महत्या न कर ले।

इत्रसाज की बेटी

kumarg   60 views   2 years ago

खाला सुबह ही धमका गई है अम्मी को ,अब चालीस रोज घर से बाहर मत निकलना । वो दिन चढ़े चुपचाप लेटी रही की शायद खाना बन जाने के बाद अम्मी उठ जाने की चिरौरी करेगी । लेकिन दस बजे के करीब अम्मी भी बगल में आकर लेट गई । कुछ देर में ही अम्मी के खर्राटे गुंजने लगे ।

अज्ञात आतंकवादी

abhi92dutta   60 views   2 years ago

हत्या और मुक्ति के बीच का अंतर ! !

पक्की सड़क(कहानी)

rahulsingh   58 views   2 years ago

कई लोगों ने कहा_"मास्टरजी आप भी क्यों इतना शारीरिक कष्ट करते हैं, मोटरसाईकिल ख़रीद लीजिये। ख़ाली हाज़िरी ही तो लेनी होती है, मोटरसाईकिल ले लीजियेगा तो और जल्दी लौट आइयेगा, समय बर्बाद नहीं होगा।

love at the age of seventeen

shashankbhartiya   57 views   2 years ago

A stroy of first crush in intermediate. "साले तेरा जोक समझ लेती न वो तो एच ओ डी ऑफिस में होते", शुभम ने चुटकी ली