YOUR STORY

FILTERS


LANGUAGE

त्रियाचरित्र : वरदान या अभिशाप

poojaomdhoundiyal   693 views   8 months ago

"त्रियाचरित्रं पुरुषस्य भाग्यम दैवो न जानती कुतो मनुष्य:"मतलब पुरुष के भाग्य और औरत के त्रियाचरित्र को देवता भी नहीं समझ पाये तो मनुष्य क्या है।

लोगों का न्याय

sunilakash   350 views   8 months ago

वह निर्दोष व्यक्ति जिसने इंसाफ की बात कही थी, लोगों की मार से छूटने के लिए छटपटा रहा था और वहां मौजूद लोग अब भीड़ में मिलकर या तो तमाशा देख रहे थे, या उसे पीट रहे थे।

किसान आत्महत्या का खौफ़ उनके बच्चों के दिलो में

vandita   60 views   11 months ago

पिछले कुछ समय मे किसान बेबस हो आत्महत्या कर रहा है। मैंने इस कहानी के माध्यम से एक किसान परिवार की बच्ची का डर दिखाया है कि किस तरह से एक बेटी अपने पिता के लिए डरी हुई है कि कही वो भी आत्महत्या न कर ले।

एक गिलास पानी

chandresh   1.08K views   5 months ago

एक गिलास पानी में इतना जादू है

पटना वाला प्यार

abhi92dutta   347 views   1 year ago

पटना के सभी लड़के और लड़कियों को समर्पित यह रचना । पटना में रहने वाले सभी लोग अपने अपने समय में इस दौर से जरूर गुज़रे होंगे । उन सभी यादों को फिर से एक कहानी के रूप में ...

जिन्दगी का सत्य....... पापा कहां चले गए

rajmati777   951 views   4 months ago

जब मैं बहुत छोटी थी और जब पहली बार किसी की डेड बॉडी देखी तो पापा से पूछा कि क्या है ये। जिन्दगी की सच्चाई जान मैं बहुत रोई।

कौनसा घर 'पराया'

Kalpana Jain   1.56K views   4 months ago

ज्योति ने अपने आप से कहा- 'लड़कियों को कहा जाता है माँ-बाप का घर 'पराया' होता है और ससुराल उसका 'अपना' घर। पर यह कैसा 'अपना घर 'जहाँ मुझे ताना मिलता रहे अपने ही कपड़ो पर, जहाँ मुझे किसी से पूछ के या छुपके चोरी से खाना पड़े। किसी चीज के लिए मन मारना पड़े। कौनसा है 'पराया घर' ??

अनोखी ममता

kavita   326 views   10 months ago

एक माँ की ममता से जुड़ी अविश्वसनीय कहानी.....रोमांचक वर्णन

होली...

cloudy   807 views   5 months ago

कई बार त्यौहार मनाने के उत्साह और जोश में हम वो कर जाते हैं जो किसी की ज़िंदगी को खतरे में डाल देता है।

पिक्सी

Manju Singh   129 views   8 months ago

मेरा प्यारा पिक्सी,कभी सोचा भी कहाँ था की उसके बिना रहना पड़ेगा। आज उसके जाने के बाद लगता है जैस्र दुनिया ही सूनी हो गयी ।

स्मृति

Manju Singh   742 views   8 months ago

बच्चों के दिल की बात को समझने के लिये उन पर यकीन अवश्य करें और उनकी बातों को कभी बहाना समझ कर टालने की गलती ं करें

चमत्कार

Manju Singh   291 views   6 months ago

इश्वर हमें दिखायी तो नही देते लेकिन हर घड़ी वो हमारे साथ होते हैं ।

बेवड़ा

mrinal   726 views   4 months ago

"मेरे बेवडे भाई, तुमने उनसे शराब पीना सीखा और मैंने शराब को हाथ न लगाना सीखा।"

डियर हस्बैंड, आज सभी छोटी बातों के लिए थैंक यू..

Kalpana Jain   841 views   5 months ago

मेरा मानना है कभी -कभी हमारे पति वो काम कर जाते हैं जो हम चाहते हैं पर कहते नहीं तब हमारा मन ही नहीं बल्कि हमारी आंखे जो खुशी से नम हो जाती है कहती हैं -thank you पर मुंह से बोल नही पाते। इसलिये आज मैं अपने इस bolg के जरिये अपने पति को बोलना चाहती हूँ - "Thank you so much for everything"

मुखर्जी नगर- सपनों का नगर

kapilsharma   132 views   11 months ago

मुखर्जी नगर, दिल्ली में स्थित है, जो कि लोक प्रशासनिक सेवाओं की तैयारी हेतु प्रसिद्ध है।