YOUR STORY

FILTERS


LANGUAGE

प्यार नहीं था तो क्या था..

Kalpana Jain   1.06K views   3 months ago

मुझे लगा कि वो मेरा एकतरफा प्यार था लेकिन इतने सालों बाद पता चला कि वो भी मुझसे प्यार करता है...

कौनसा घर 'पराया'

Kalpana Jain   1.57K views   5 months ago

ज्योति ने अपने आप से कहा- 'लड़कियों को कहा जाता है माँ-बाप का घर 'पराया' होता है और ससुराल उसका 'अपना' घर। पर यह कैसा 'अपना घर 'जहाँ मुझे ताना मिलता रहे अपने ही कपड़ो पर, जहाँ मुझे किसी से पूछ के या छुपके चोरी से खाना पड़े। किसी चीज के लिए मन मारना पड़े। कौनसा है 'पराया घर' ??

क्षितिज के पार

rgsverma   87 views   1 year ago

"...इस बीच जो बात मुझे उलझन में डालती रही वह सृष्टि के प्रति मेरी सोच और उसको लेकर आत्मग्लानि थी. मुझे लगता था कि उसे मैंने मंझधार में छोड़ दिया था..." (कुछ चुनींदा अंश)

त्रियाचरित्र : वरदान या अभिशाप

poojaomdhoundiyal   706 views   9 months ago

"त्रियाचरित्रं पुरुषस्य भाग्यम दैवो न जानती कुतो मनुष्य:"मतलब पुरुष के भाग्य और औरत के त्रियाचरित्र को देवता भी नहीं समझ पाये तो मनुष्य क्या है।

लघुकथा-- नजरिया

sunilakash   807 views   6 months ago

कई लोग सामाजिक समस्याओं के बारे में बहुत अच्छे तरीके से सोचते हैं किंतु व्यवहार में बिल्कुल उल्टा करते रहते हैं, और उन्हें कभी यह अहसास नहीं होता कि वे उल्टा कर रहे हैं।

बचपन और नानी का घर

Manju Singh   1.06K views   6 months ago

बचपन एक बार जाता है तो कभी लौट कर नही आता लेकिन उसकी यादें हैं की जाने का नाम नहीं लेतीं। पढ़िए यह रचना जो निश्चय ही आपको आपके बचपन में ले जायेगी ।

भटकती राहें

Sharma Divya   1.32K views   5 months ago

दिखावे की दुनिया में भटकाव से पहले ही संभल गई नेहा।

सच है दुनिया वालों की हम हैं "अनाड़ी"

Kalpana Jain   1.41K views   6 months ago

अब रोशनी को कौन समझाये की जेठानी सब की नजरों में काम करती नजर आ रही है और तुम बेकार।

WHERE DOES AKRAM MALIK STAY?

mehakmirzaprabhu   21 views   1 year ago

Stories reflecting today's times of fear, mistrust and love

यादें

mmb   909 views   9 months ago

उम्र के अंतिम पड़ाव में जीवन की यादें उमड़ घुमड़ कर आती हैं।

डियर हस्बैंड, आज सभी छोटी बातों के लिए थैंक यू..

Kalpana Jain   843 views   6 months ago

मेरा मानना है कभी -कभी हमारे पति वो काम कर जाते हैं जो हम चाहते हैं पर कहते नहीं तब हमारा मन ही नहीं बल्कि हमारी आंखे जो खुशी से नम हो जाती है कहती हैं -thank you पर मुंह से बोल नही पाते। इसलिये आज मैं अपने इस bolg के जरिये अपने पति को बोलना चाहती हूँ - "Thank you so much for everything"

पीली चुनरी

prakash   238 views   1 year ago

ये एक अधूरी प्रेम कहानी है।जिसकी शुरुआत तो हुई , पर अपने मुकम्मल मुकाम तक न पहुँच सकी ।

SAVE THE BOY CHILD!

mehakmirzaprabhu   31 views   1 year ago

"He sounded unsure, excited, scared, all at the same time. Hassan lay with his chest pinned to the ground. Kamal and Wali each gripped an arm, twisted and bent at the elbow so that Hassan's hands were pressed to his back.

कुछ ऐसे अहसास जिसे सिर्फ महसूस किया जा सकता..

Kalpana Jain   819 views   6 months ago

मैने एक प्यारी सी बेटी को जन्म दिया। जब मुझे इस बात का पता चला तो मेरी खुशी का तो ठिकाना ही नहीं था।

एक स्वप्न की मौत

rgsverma   133 views   1 year ago

"...मैं जब भी दिल्ली जाता सुरभि से मुलाकात जरूर होती. वह अपनी व्यस्तता के बावजूद मेरे लिये समय निकालती और हम सब मिलकर कुछ अदद मिली-जुली यादों में उलझ जाते. सुनिधि ने सुरभि को अपना प्यार और ममता उड़ेलने का एक और जरिया प्रदान कर दिया था.... "