SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

Prostitution

mitikaarora   10 views   1 year ago

Prostitution isn't about selling a 'girls' body, rather its a barter of her helplessness and his dignity.

ओ गणपति महाराज

nis1985   11 views   10 months ago

ओ गणपति महाराज विनती सुन लो आज अकिंचन सी मैं खड़ी आज तेरे द्वार

दिल का हाल

rashmi   12 views   1 year ago

कल्ब में बसी चाहत को कहाँ कोई जान पाता है..बस इसी दर्द को शायरी में लिखने की कोशिश

एक गज़ल

rashmi   16 views   9 months ago

अपने जीवनसाथी के लिए दिल से की गई प्रार्थना

"ख़्वाहिश"!!!

ayushjain   15 views   10 months ago

एक ख़्वाहिश सिर्फ़ एक ख़्वाहिश ही थी वो भी पूरी ना हुई

मै नींदे लिखूंगी

nis1985   25 views   10 months ago

मै नींदे लिखूंगी, तू ख्वाब पढ़ना... बस अनकहा सा, वो एहसास पढ़ना.....

मंजिल

nis1985   22 views   11 months ago

हृदय आतुर है कुछ कर जाना है, जीवनपथ पे आगे बढ़ जाना है....

मैं तुम और ये आवारगी ।

chandrasingh   46 views   10 months ago

जिन्दगी में अगर कभी बिछड़ना हो तो, एक काम करना बस जरा सा तुम मेरा मान करना। मुझसे कभी किश्तो मे मत बिछड़ना जब, मैं मुकम्मल नींद मे चला जाऊँ तब, तुम मुकम्मल तौर पर बिछड़ जाना, बस ज़िन्दगी में इतना तुम अहसान कर जाना।

जो मेरे बाल बिखरने नहीं देती थी कभी

sehyun221   21 views   10 months ago

This is my ghazal which very close to my heart.

निष्ठुर

rajesh1720   11 views   1 year ago

परिवार मे हमसे बेहद करीब पर कठोर , डर और डाँट का दूसरा नाम , पर आज बहुत याद आता है वो शख्स ।

अभी बाकी है

sonikedia12   33 views   10 months ago

मत हो उदास ऐ परिन्दे कि अभी तेरी उड़ान बाकी हैं।

डर लगता है

poojaomdhoundiyal   16 views   9 months ago

हम भले ही कह ले की आज हर कोई अकेला है लेकिन ये भी सच है कि कहीं न कहीं वो अपने अंदर एक डर भी समेटे हुए है।

Child trafficking

mitikaarora   13 views   11 months ago

When the so called fish markets started selling the tiny tots, the virtual reality of the age of vice was clearly seen.

दर्द

gauravji   50 views   8 months ago

मैं हूं अकेला तो साथ कोइ क्यूं रहेगा परछाई से कह दो दूर ही रहे मुझसे । :- गौरव

एक बार

sonikedia12   10 views   1 year ago

जिंदगी मैं तेरी सहर में ना सही ..