SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

मेहनत कश शहज़ादी।

sehyun221   25 views   7 months ago

एक मज़दूर लड़की का अपने आशिक़ के साथ बिताए हुए कुछ लम्हों का हसीन मंज़र।

दिल का हाल

rashmi   11 views   9 months ago

कल्ब में बसी चाहत को कहाँ कोई जान पाता है..बस इसी दर्द को शायरी में लिखने की कोशिश

जो मेरे बाल बिखरने नहीं देती थी कभी

sehyun221   18 views   7 months ago

This is my ghazal which very close to my heart.

जो नहीं है, वह खूबसूरत है...

sehyun221   34 views   7 months ago

An inspirational article on daily life issues. A strong message to those people who are worried about their future and all that.

क्या कहूँ

sonikedia12   12 views   9 months ago

आँखों से मुलाक़ात हुई थी धड़कनों ने इजहार किया था

सच

soni   23 views   7 months ago

फिसलते पाँव अक्सर झूठ की जमीन पर मिले हैं,

चाँद थी वो

neerajself   37 views   7 months ago

I tried to answer of 'who was she?'this way 'chand thi wo'

Shayari

sonikedia12   14 views   10 months ago

किसी ने सुलगाया किसी ने हवा दी ।

दो नैनों की बात कई

jhalak   9 views   9 months ago

जीवन के कई सत्य तो इस हाढ मांस के देह में ही है

"ख़्वाहिश"!!!

ayushjain   14 views   7 months ago

एक ख़्वाहिश सिर्फ़ एक ख़्वाहिश ही थी वो भी पूरी ना हुई

सज़ा

neerajself   17 views   7 months ago

ये बात सही है कि कभी दिल में रहे हो तुम...

पैमाने के दायरों में रहना... (नज़्म) #ज़हन

Mohit Trendster   64 views   9 months ago

पैमाने के दायरों में रहना, छलक जाओ तो फिर ना कहना… साँसों की धुंध का लालच सबको, पाप है इस दौर में हक़ के लिए लड़ना… अपनी शर्तों पर कहीं लहलहा ज़रूर लोगे, फ़िर किसी गोदाम में सड़ना…

वो बात

neerajself   20 views   7 months ago

इन बातों में वो बात नहीं...........

Prostitution

mitikaarora   8 views   1 year ago

Prostitution isn't about selling a 'girls' body, rather its a barter of her helplessness and his dignity.

बेईमान मौसम

chandrasingh   71 views   10 months ago

मौसमों ने मिल के साजिशें रच रहे थे, उस शरमाती हुई को, बेशरम कर रहा थे !!