SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

खाना ठंडा हो रहा है…

Mohit Trendster   165 views   8 months ago

काश की आह नहीं उठेगी अक्सर, आईने में राही को दिख जाए रहबर, कुछ आदतें बदल जाएं तो बेहतर, दिल से लगी तस्वीरों पर वक़्त का असर हो रहा है… …और खाना ठंडा हो रहा है।

मै नींदे लिखूंगी

nis1985   23 views   8 months ago

मै नींदे लिखूंगी, तू ख्वाब पढ़ना... बस अनकहा सा, वो एहसास पढ़ना.....

बस यूं ही

chandrasingh   12 views   7 months ago

अगर बन जाता घरौंदे ख्वाबों से, तो इतनी शिद्दत से चिड़िया तिनका-तिनका न सजोती।

शायरी ऐ शाम

ramkanwar   26 views   7 months ago

राह पर चला मै भी कुछ इस कदर, न मंजिल मिली न साहिल मिला | यू होकर बेजुबां मै चल रहा था, क्या बोलू बस सिने में दर्द लिए चल रहा था|

निष्ठुर

rajesh1720   9 views   10 months ago

परिवार मे हमसे बेहद करीब पर कठोर , डर और डाँट का दूसरा नाम , पर आज बहुत याद आता है वो शख्स ।

मैं तुम और ये आवारगी ।

chandrasingh   39 views   7 months ago

जिन्दगी में अगर कभी बिछड़ना हो तो, एक काम करना बस जरा सा तुम मेरा मान करना। मुझसे कभी किश्तो मे मत बिछड़ना जब, मैं मुकम्मल नींद मे चला जाऊँ तब, तुम मुकम्मल तौर पर बिछड़ जाना, बस ज़िन्दगी में इतना तुम अहसान कर जाना।

ख्याल क्यों है.....!

chandrasingh   12 views   10 months ago

मै बोला गर करता हो, बेवफाई तो मेरे लिये ये ख्याल क्यों है.?

Shayari

sonikedia12   13 views   9 months ago

वो रहे बेखबर मेरे इश्क़ से Love shayari

बंद किताबें

joshimukesh1010   20 views   10 months ago

कुछ गुलाब जो किताबों में बंद पड़े हैं....

दिल का हाल शायरी की जुबान

rashmi   55 views   9 months ago

कल्ब़ यानि दिल के हाला़त को शायरी में कहने की कोशिश की है

मेरे पास -Shayari

sonikedia12   40 views   10 months ago

तुम रहते हो मेरे पास मैंने देखा है कई बार ..

दिल का हाल

rashmi   11 views   9 months ago

कल्ब में बसी चाहत को कहाँ कोई जान पाता है..बस इसी दर्द को शायरी में लिखने की कोशिश

क्या कहूँ

sonikedia12   12 views   9 months ago

आँखों से मुलाक़ात हुई थी धड़कनों ने इजहार किया था

Shayari

sonikedia12   14 views   10 months ago

किसी ने सुलगाया किसी ने हवा दी ।

दो नैनों की बात कई

jhalak   9 views   9 months ago

जीवन के कई सत्य तो इस हाढ मांस के देह में ही है