SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

Shayari

sonikedia12   12 views   4 months ago

आ गए जो तेरे शहर क्या होगा। उस वक्त का पहर क्या होगा।

चल आज कुछ किस्से लिखते है ।

chandrasingh   19 views   4 months ago

तेरे हर एक लम्हे के खातिर, अपनी जिन्दगानी लिखते हैं ॥

ओ गणपति महाराज

nis1985   9 views   4 months ago

ओ गणपति महाराज विनती सुन लो आज अकिंचन सी मैं खड़ी आज तेरे द्वार

अभी बाकी है

sonikedia12   31 views   4 months ago

मत हो उदास ऐ परिन्दे कि अभी तेरी उड़ान बाकी हैं।

सागर के किनारे

kavita   41 views   4 months ago

सागर के किनारों सी तटस्थ, और एकल जिंदगी की एक अधूरी प्रेम कहानी....

मैं तुम और ये आवारगी ।

chandrasingh   35 views   4 months ago

जिन्दगी में अगर कभी बिछड़ना हो तो, एक काम करना बस जरा सा तुम मेरा मान करना। मुझसे कभी किश्तो मे मत बिछड़ना जब, मैं मुकम्मल नींद मे चला जाऊँ तब, तुम मुकम्मल तौर पर बिछड़ जाना, बस ज़िन्दगी में इतना तुम अहसान कर जाना।

शायरी ऐ शाम

ramkanwar   18 views   4 months ago

राह पर चला मै भी कुछ इस कदर, न मंजिल मिली न साहिल मिला | यू होकर बेजुबां मै चल रहा था, क्या बोलू बस सिने में दर्द लिए चल रहा था|

बस यूं ही

chandrasingh   11 views   4 months ago

अगर बन जाता घरौंदे ख्वाबों से, तो इतनी शिद्दत से चिड़िया तिनका-तिनका न सजोती।

अधूरी सी मन्नत

aksha   26 views   4 months ago

Sometimes i want to live my childhood again so that i can find my brother... 😞

मै नींदे लिखूंगी

nis1985   23 views   4 months ago

मै नींदे लिखूंगी, तू ख्वाब पढ़ना... बस अनकहा सा, वो एहसास पढ़ना.....

"लिख दूँ"!!!

ayushjain   12 views   4 months ago

"सोचता हूँ लिख दूँ खुद को दिल खोल कर फिर सोचता हूँ रहने दूँ......

Child trafficking

mitikaarora   8 views   5 months ago

When the so called fish markets started selling the tiny tots, the virtual reality of the age of vice was clearly seen.

गुमगश्त सी खामोशियाँ

nis1985   26 views   5 months ago

चलो एक ऐसे जहाँ, जहा बस सुकूँ मिले, करके आलिंगन तुम, मिटा दो सारे गिले......

खाना ठंडा हो रहा है…

Mohit Trendster   165 views   5 months ago

काश की आह नहीं उठेगी अक्सर, आईने में राही को दिख जाए रहबर, कुछ आदतें बदल जाएं तो बेहतर, दिल से लगी तस्वीरों पर वक़्त का असर हो रहा है… …और खाना ठंडा हो रहा है।

मुंतजिर

utkrishtshukla   28 views   5 months ago

इंतज़ार करना हर शख्श के लिए आसान नहीं ......