SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

“ अगर तुम चाहो तो ”

ankitg   125 views   1 year ago

प्रस्तुत कविता में मैंने अपनी प्रेयसी को एक उर्जात्मक रूप में दिखाने कि कोशिश की है, एक कवि अपनी कविता (प्रेयसी) के सूक्ष्म वियोग में जब कुछ रचनायें लिखता है, उस दर्द को मह्सूस कर लिखने का प्रयास किया है...

निष्ठुर

rajesh1720   27 views   2 years ago

परिवार मे हमसे बेहद करीब पर कठोर , डर और डाँट का दूसरा नाम , पर आज बहुत याद आता है वो शख्स ।

शायरी ऐ शाम

ramkanwar   85 views   1 year ago

राह पर चला मै भी कुछ इस कदर, न मंजिल मिली न साहिल मिला | यू होकर बेजुबां मै चल रहा था, क्या बोलू बस सिने में दर्द लिए चल रहा था|

गुलाब

utkrishtshukla   93 views   2 years ago

सदियों से इज़हार-ए-इश्क और मुहब्बत की दुनिया में गुलाब ने अपना वर्चस्व कायम रखा है।

पैमाने के दायरों में रहना... (नज़्म) #ज़हन

Mohit Trendster   90 views   2 years ago

पैमाने के दायरों में रहना, छलक जाओ तो फिर ना कहना… साँसों की धुंध का लालच सबको, पाप है इस दौर में हक़ के लिए लड़ना… अपनी शर्तों पर कहीं लहलहा ज़रूर लोगे, फ़िर किसी गोदाम में सड़ना…

मुर्दा बोल रहा है

gauravji   58 views   1 year ago

कभी सुना है क्या लाश को बोलते हुए ? मैंने देखा है उसे कब्र में रोते हुए ।

जो मेरे बाल बिखरने नहीं देती थी कभी

sehyun221   28 views   1 year ago

This is my ghazal which very close to my heart.

मैं तुम और ये आवारगी ।

chandrasingh   79 views   1 year ago

जिन्दगी में अगर कभी बिछड़ना हो तो, एक काम करना बस जरा सा तुम मेरा मान करना। मुझसे कभी किश्तो मे मत बिछड़ना जब, मैं मुकम्मल नींद मे चला जाऊँ तब, तुम मुकम्मल तौर पर बिछड़ जाना, बस ज़िन्दगी में इतना तुम अहसान कर जाना।

पोटली......

रश्मि वैष्णव   72 views   1 year ago

सपनों की...आशाओं की....एक पोटली जो दिल के जज्बातों की....

"ख़्वाहिश"!!!

ayushjain   22 views   1 year ago

एक ख़्वाहिश सिर्फ़ एक ख़्वाहिश ही थी वो भी पूरी ना हुई

कांच हु अभी....

nis1985   94 views   2 years ago

कांच हूँ अभी,खुद को तराशना है बाकी, जब आइना बन जाऊं,तब दुनिया देखेगी......

एक गज़ल

rashmi   26 views   1 year ago

अपने जीवनसाथी के लिए दिल से की गई प्रार्थना

गुमगश्त सी खामोशियाँ

nis1985   76 views   2 years ago

चलो एक ऐसे जहाँ, जहा बस सुकूँ मिले, करके आलिंगन तुम, मिटा दो सारे गिले......

दिल का हाल शायरी की जुबान

rashmi   113 views   2 years ago

कल्ब़ यानि दिल के हाला़त को शायरी में कहने की कोशिश की है

अनुभव

utkrishtshukla   137 views   2 years ago

अनुभव इंसान की जिंदगी को आसान बनाने में ख़ास भूमिका निभाते है।