SHAYARI

FILTERS


LANGUAGE

अंत्येष्टि

nis1985   70 views   3 months ago

भावनाये गर शून्य हो जाये, उनकी अंत्येष्टि कर देना श्रेष्ठ है......

एक गज़ल

rashmi   13 views   3 months ago

अपने जीवनसाथी के लिए दिल से की गई प्रार्थना

डर लगता है

poojaomdhoundiyal   13 views   3 months ago

हम भले ही कह ले की आज हर कोई अकेला है लेकिन ये भी सच है कि कहीं न कहीं वो अपने अंदर एक डर भी समेटे हुए है।

मेला

utkrishtshukla   29 views   3 months ago

मेले में मां बाप से बिछड़ने का दर्द सिर्फ वही जानता है जो कभी बिछड़ा हो....

जख्म

gauravji   27 views   3 months ago

" जहर" जैसा भी हो जख्म पर मलते रहना

नज़र

utkrishtshukla   24 views   4 months ago

उसकी नज़र से नज़र कौन मिलाए, जिससे नज़र खुद ख़ुदा न मिलाए।

पोटली......

रश्मि वैष्णव   56 views   4 months ago

सपनों की...आशाओं की....एक पोटली जो दिल के जज्बातों की....

वो बात

neerajself   17 views   4 months ago

इन बातों में वो बात नहीं...........

सज़ा

neerajself   15 views   4 months ago

ये बात सही है कि कभी दिल में रहे हो तुम...

"ख़्वाहिश"!!!

ayushjain   13 views   4 months ago

एक ख़्वाहिश सिर्फ़ एक ख़्वाहिश ही थी वो भी पूरी ना हुई

चाँद थी वो

neerajself   30 views   4 months ago

I tried to answer of 'who was she?'this way 'chand thi wo'

सच

soni   20 views   4 months ago

फिसलते पाँव अक्सर झूठ की जमीन पर मिले हैं,

जो नहीं है, वह खूबसूरत है...

sehyun221   28 views   4 months ago

An inspirational article on daily life issues. A strong message to those people who are worried about their future and all that.

जो मेरे बाल बिखरने नहीं देती थी कभी

sehyun221   17 views   4 months ago

This is my ghazal which very close to my heart.

मेहनत कश शहज़ादी।

sehyun221   21 views   4 months ago

एक मज़दूर लड़की का अपने आशिक़ के साथ बिताए हुए कुछ लम्हों का हसीन मंज़र।