SEXUAL ABUSE

FILTERS


LANGUAGE

Taking back that night!

alsha   120 views   7 months ago

This is about a girl who underwent sexual abuse or was raped...her feeling fears and how she overcame her fears..

LOVE: A BIG GAMBLE II

Rajeev Pundir   86 views   7 months ago

People are expert in exploiting others, mainly the girls, sexually under the garb of love. Remove the blind and be careful! Don't fall prey to them. Speak. Stand up. And teach them a lesson like Sati took Satyam by horns for abusing her sexually.

एक दर्द

sonikedia12   105 views   7 months ago

उड़ना चाहती थी वो पर ना ही टूटे पत्तों की तरह ना ही सूखे पत्तों की तरह लहराना चाहती थी पर ना ही फटे दामनों की तरह ना ही चिथड़ों की तरह ।

Slap Of Life

Rajeev Pundir   15 views   7 months ago

This story tells about the consequences of a heinous crime like rape. And what happens when the victim belongs to the person who takes fun of raping others' women and girls? So beware while harming others! Someone is watching you to punish in the way you've never imagined.

Mind You

Vanshikha Kanojia   58 views   7 months ago

How a women feels when a man raises his hand on her

I am a girl, I am a woman, but not a human being.

advit   21 views   7 months ago

The story of every female individual who encounters this every now and then and deemed to be subordinate sex. and denied their individual status.

Unbearable pain

Supriya Supriya   137 views   7 months ago

Hi, I have tried to express the pain of an ORDINARY INDIAN WOMAN about what she goes through when she comes across with an unpleasant touch. Please read, share and comment if it touches you.

तोड़ दे चुप्पी

poojaomdhoundiyal   38 views   7 months ago

उम्मीद है कि यह कविता उन सभी औरतों का दर्द बयां कर पाए जो एक घर की, एक रिश्ते की चार दिवारी में कैद हैं। शायद मेरी यह कुछ पंक्तियां उनमे नयी उम्मीद का सृजन कर उनको उनकी चुप्पी तोड़ने को प्रेरित कर दे।

रेपिस्ट कौन?

suryaa   84 views   7 months ago

बेटा उठ जाओ,सुबह के 9 बज रहे हैं,कब तक सोओगी-----मास्टर केशव प्रसाद ने पल्लवी को आवाज लगाते हुए कहा

अनजाना क़त्ल

suryaa   45 views   7 months ago

पीयूष बेटा उठ जाओ सुबह हो गयी आखिर कब तक सोयेगा तू.........मम्मी ने पीयूष को आवाज लगाते हुए कहा उठ जाऊंगा आज तो सोने दे माँ......आज सन्डे है वैसे भी ऑफिस वाले दिन ठीक से सोने को नहीं मिलता....आज तो सो लूँ ढंग से..............उसने रजाई को मुहँ पर ढकते हुए कहा

समाज के भेड़िया

gourav11698   19 views   8 months ago

रेपिस्ट कही बहार से नहीं आता असल में रेपिस्ट हम और आपमें से ही कोई है..जो हमारे आस पास ही रहता है और तलाश करता है एक मौके की और हमें आवश्यकता है हर पल जागरूक रहने की क्योंकि भेड़ियों को एक मात्र मौका चाहिए ... एैसा ही एक समाज का भेड़िया मेरी कहानी में मिलेगा आपको... तो जागरूक रहिए..

कौन हूं मैं

Rajeev Pundir   27 views   8 months ago

क्या कभी आपने सोचा है कि अगर तुम्हारे अत्याचार से तंग आकर स्त्री जाति ने पृथ्वी से लुप्त होने का फैसला कर लिया तब क्या होगा? सोचो, गम्भीरता से विचार करने का समय है।

Oh, that afraid girl!

priyanshibhageria   21 views   8 months ago

Big world, small minds Big people, small talks. ~Priyanshi Bhageria

सगी

sidd2812   75 views   8 months ago

जहालत की ज़िन्दगी से वो तंग आ गयी थी। माँ हमेशा कहती थी कि तू अठरा की हो जाए तो तेरी शादी कर दूंगी, तेरे बाबूजी सीधे हैं, तेरी चाची चालाक है, तेरे चाचा बहुत अच्छे हैं; न जाने क्या-क्या समझाती रहती थी लेकिन, तीन साल पहले ही चली गयी।

I'm not a virgin, Ma

mitikaarora   20 views   9 months ago

A girl questions her mother that will she be loved less after losing her so called treasure to a beast!