RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

कनिया काकी

dhirajjha123   110 views   2 years ago

छोटा सा कद था , झुक कर चलती थी। शायद ज़िंदगी का बोझ उस से अब ढोया नही जाता था इस वजह से कमर भी झुक गई थी। सारा दिन चरखे में सूत कातती फिर उस सूत से जनेऊ बनाती।

दीवाली और वो ख्वाब

ritumishra20   105 views   1 year ago

रूहानी और सच्चे प्रेम की एेसी कहानी जहां उम्र की कोई सीमा नहीं है लेकिन सामाजिक मूल्यों को स्वीकारती ये प्रेम कहानी केवल एक एहसास और ख्वाब बन के रह जाती है

The Perfect Match

Rajeev Pundir   102 views   2 years ago

Love is not conditional. It should never be. If you love someone, be ready to sacrifice for them whenever they need something direly - whether they demand or not!

यादों की डायरी

chandrasingh   101 views   1 year ago

कहते हैं ना की, जिन्दगी को हम जितना सुलझाना चाहते हैं। वो हमें उतना ही उलझाती है। ज़िन्दगी को अपनी जिन्दगी में सुलझना बहुत कठिन है। इस लिये हमे कोशिश भी नहीं करनी चाहिए। वो जैसी चल रही हैं हमें उसे वैसे ही चलने देना चाहिए।

कुत्ता चीज़

Rajeev Pundir   101 views   2 years ago

कहते हैं शब्दों के घाव तीरों से भी ज्यादा होते हैं. ऐसा ही उसके साथ हुआ जब बहुत दिनों बाद वो उसे मिली. क्या हुआ ? जानने के लिए पढ़िए इस छोटी सी कहानी को

सड़क छाप इश्क़

Sonu Mishra   100 views   2 years ago

इश्कबाज, ये कहानी एक ऐसे इश्कबाज की है जो एक लड़की से इश्क़ करता है लेकिन वो लड़की उस लड़के को रत्ती भर भी भाव नहीं देती।

एक चिट्ठी की कहानी!

rishav   77 views   2 years ago

एक कहानी जो दरवाज़े पर पड़े एक ख़त में शुरू और खत्म हुई, जिसका पता चला बारह सालों के बाद!! क्या हुआ आगे!?

हैप्पी वैलेंटाइन डे

abhidha   73 views   2 years ago

गरीबों के लिए मोहब्बत इतनी आसान नहीं होती।आज कल तो प्यार करने से पहले लोग स्टेटस मैच करते हैं।

मेरी वो दुनिया(भाग 2)

gauravji   70 views   1 year ago

बीच मझधार में डूबती-उबरती प्रेम की दास्तां।

अपेक्षाओं के बियाबान

nidhi510   66 views   2 years ago

मौत तो अटल सत्य है लेकिन एक प्रेम भरी तृप्त जिंदगी जी कर जाना और एक किसी के इज़हार का इंतज़ार करते हुए बिना कोई खूबसूरत याद लिए ,बिना कोई खूबसूरत याद दिए चले जाना, दोनों को एक दूसरे से जुदा करता है।

निष्ठुर

kumarg   64 views   2 years ago

मां के संबंध में अनेको किस्से कहानियां गीत गजल आदि लिखे गये हैं लेकिन पिता बहुत अंडररेटेड जीव है। वो अंदर से नरम होकर लालन पालन करता है वहीं बाहर से कठोर रहकर जमाने से रक्षा करता है। हर कोई बाहरी आवरण ही देखता है और वो कहता है उसे निष्ठुर

रकीब

kumarg   57 views   2 years ago

नसीब से बस उतनी ही मोहब्बत मिलती है जितनी रकीब छोड़ जाता है। जब मोहब्बत हो ही जाए तो कभी इतनी मोहब्बत मत करना की रकीबों के हाथ कुछ न लगे

पिंजरा जिसका दरवाज़ा खुला था

hema   57 views   2 years ago

परितोष के बैचैन दिल पर प्यार भरा हाथ रखने की कोशिश में वो परितोष की शर्ट की बायीं जेब पे जा बैठी । परितोष की आँख खुल गयी उसने बन्दिनी को अपने दोनों हाथों में प्यार से लिया और चूम लिया । प्यार से उलाहना देते हुए कहा ‘क्या हो गया था तुम्हें? दोबारा ऐसा मत करना । कुछ खाओगी या अब सुबह ही खाना होगा ‘?

एक छोटी सी कोशिश बेटी के मन की बात कहने की

soni   52 views   1 year ago

लोग कहते है कहीं कुछ छुटा तो नहीं अब उन्हें कौन समझाए कुछ नहीं सबकुछ तो छुट गया नैहर में...

नंद जी-एक कहानी पिता वाली

dhirajjha123   47 views   2 years ago

आप पिता हैं तो पढ़ें और अगर आप पुत्र हैं तो ज़रूर पढ़ें