RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

कितना मुश्किल है मां बनना - I

Maneesha Gautam   1.04K views   6 months ago

हर नयी शादी में उम्मीदो की एक लंबी लिस्ट होती है,गुड न्यूज है.

अनजान मुसाफ़िर

akanskha pandey   467 views   10 months ago

मोहब्बत जो कुछ अधूरी सी ,जब किसी से मोहब्बत हो जाये और वो यूं अचानक से दूर हो जाये हमारी आज की कहानी।

यही तो इश्क है-३

nis1985   818 views   1 year ago

अब क्या मन्दिरी इस इश्क के बीज से अपने प्रेम की बगिया सजा पाएगी???????

तलाक्नामा

Manju Singh   1.23K views   7 months ago

पति पत्नी का रिश्ता सब रिश्तों से अलग एक ऐसा रिश्ता है जिसे तोड़ पाना इतना आसान नहीं होता। यह रिश्ता अनोखा है कभी गुस्सा तो कभी प्यार।

ठंडी और गर्म औरत

Rajeev Pundir   1.83K views   9 months ago

स्त्री हो या पुरुष, उम्र के हिसाब से शारीरिक परिपक्वता के साथ मानसिक रूप से परिपक्व होना भी बहुत ज़रूरी है अन्यथा जीवन में बहुत से अंतर और बाह्य विरोधों का सामना करना पड़ सकता है I ये कहानी भी एक ऐसी ही लड़की की है जो अपने पति की उससे क्या अपेक्षाएं हैं, नहीं जान पाई और उसके तिरस्कार का कारण बन गयी I

नहीं बदलेंगे वो

rajmati777   1.01K views   9 months ago

मैं मीशा,सीधी सादी औरत, उच्च शिक्षा प्राप्त, फिर भी न कोई अंहकार है मुझमें। जैसे चाहे उसी परिस्थिति में ढल जाने वाली खामोश आत्मा।

नोंक-झोंक

sachinomgupta   723 views   10 months ago

पति-पत्नी के कुछ अनचाहे झगडे को लिखा है, जिसमे पति को ज्यादा बोलने की इजाजत नहीं है।

उड़ान पंखों की

rajmati777   312 views   11 months ago

जिन्दगी में प्यार बहुत जरूरी है क्योंकि प्यार के बिना जीवन अधूरा सा लगता है। पर कभी परिस्थितियां ऐसी सामने आ जाती है कि चाह कर भी रिश्ते को अटूट बंधन में नहीं बांध सकते। अहंकार रिश्तों की डोर को तोड़ देता है।

नियति

kavita   1.88K views   11 months ago

प्रेम में लंबी प्रतीक्षा के बाद , बंजर धरती पर प्रेम सिंचन की अद्भुत कथा..!

एक छोटी सी कोशिश बेटी के मन की बात कहने की

soni   49 views   1 year ago

लोग कहते है कहीं कुछ छुटा तो नहीं अब उन्हें कौन समझाए कुछ नहीं सबकुछ तो छुट गया नैहर में...

यही तो इश्क है भाग-५

nis1985   388 views   1 year ago

◆"इश्क के रंग में सराबोर होकर फाइनली मन्दिरी और आनंद माँ के साथ शॉपिंग को निकल पड़े।

यही तो इश्क है भाग-६

nis1985   140 views   1 year ago

"उफ्फ! क्या नजारा था, मानो ये पल बस यही रुक जाए, बस यही पर रुक जाए!!!

इंतज़ार, उम्मीद, और विश्वास समेटे वो आठ साल

dhirajjha123   16 views   1 year ago

कुछ प्रेम कहानियों को शब्दों या किसी की कल्पना की ज़रुरत नहीं होती, वो खुद में एक गाथा होती है और ये कहानियां उन जंगली फूलों की तरह हैं जिन्हें सोच समझ कर सुन्दर बगिया में नहीं लगाया जाता यह किसी भी परिवेश किसी भी हालत किसी भी जगह बिना सोचे समझे अपने आप ही उग जाती हैं

बस यूँ ही लिखने का मन कर गया

dhirajjha123   10 views   1 year ago

अब किसी के भी मौत की खबर मन उदास कर देती है । बीता हुआ सब सामने आ जाता है । वो रोते बिलखते बीवी बच्चे मन को झकझोर देते हैं,

रिश्तों की कॉम्प्लिकेशन

nis1985   190 views   1 year ago

आखिर वो दिन आ ही गया जब जतिन ने रिया से अपने दिल की बात कह दी,उस दिन जतिन बहुत सहमा हुआ सा था उसे पूरा विश्वास था कि रिया उसे ना नहीं बोलेगी