RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

संसकारी से संस्कारहीन बहू

jyotiorrajdeep   1.37K views   6 months ago

अपने हक और सम्मान के लिए आवाज उठाने वाली बहू अससंकारी कहलाती है।

बहनों की दखलंदाजी कितनी सही?

monicabhardwaj   2.11K views   6 months ago

हर रिश्ते की एक सीमा होती है। उसे बरकरार रखने से ही रिश्तों में मजबूती रहती है नहीं तो वह बोझ लगने लगते हैं। हर किसी के अपने अलग दायित्व होते हैं जिन्हे उनको ही पूरा करने देना बेहतर होता है। ये कहानी भी ऎसे ही रिश्तों को दर्शाती है।

झूठी हैं दीवारें

Manju Singh   1.85K views   5 months ago

कभी कभी समाज की घटनाएं हमें आईना दिखा देती हैं। अपने आस पास की घटनाओं से सीख लेने वाली कहानी पढ़ें

पगफेरा

nidhi510   324 views   10 months ago

अपनी बेटी को आर्थिक मानसिक व सामाजिक स्थिरता प्रदान करने के लिए एक माँ के संघर्ष की कहानी जहाँ दमाद सामाजिक मान्यताओं को तोड़ निभाता है बेटे होने का फर्ज ।

'दोस्ती से ज़्यादा प्यार से कम'-एक प्रेम कहानी

ritu sinha   338 views   9 months ago

जब दोस्ती प्यार में बदलती है तो सब अच्छा लगता है। हर दिन खुशनुमा सा लगता है। लेकिन जब प्यार प्यार दोस्ती में बदलती है तो एक अजीब सी टीस उठती है दिल मे जिसे न छुपाया जाए न सहा जाए।

मजबूर प्यार

kavita   1.27K views   6 months ago

सच्चे प्यार में डूबे दो अलग राहों के राही मगर अटूट निश्छल प्रेम डोर में बंधे दो दिल की भावुक वार्तालाप आधारित लघुकथा

कहानी-- नारी अधिकारों के शिकार

sunilakash   1.06K views   4 months ago

नारी उत्पीड़न को रोकने के लिए बने कानूनों को मुट्ठी में पकड़कर, पति के परिवार की नारियों और खुद पति को भी आतंकित रखने वाली चालाक महिलाओं की कहानी।

जूड़े का गुलाब

kavita   1.29K views   2 months ago

प्रेम के धागों से बुनी गयी ..एक रूमानी कहानी

राम मिलाये जोड़ी

kumarg   1.22K views   4 months ago

रमेश कभी स्कूल नहीं गया। गाँव में स्कूल था ही नहीं। जितना पढ़ना लिखना सीखा सब सिनेमा के पोस्टर से। रखवाला, सौदागर, मरते दमतक सबके डायलॉग रटे हुए थे। एक अंग्रेजी सिनेमा भी देख रखा था 'हू एम आई' हीरो भले चाइनीज था लेकिन सिनेमा खूब चला था।

क्योंकि तुम, तुम हो

poojaagnihotry   1.30K views   5 months ago

'लिव इन रिलेशन' में रहने वाले विवाहित युवक एवं अविवाहित युवती का सच, जो सोचने पर मजबूर कर दे।

यही तो इश्क है भाग-१०

nis1985   307 views   8 months ago

तेरे इंतजार में पलकें बिछाय बैठी हूँ, तू बस एक नजर देखे,और मैं निखर जाऊं....! ये बिंदिया,झुमका और कँगना सजाये बैठी हूँ, तू बस एक नजर देखे,और मैं निखर जाऊं....!!

पराया धन

sonikedia12   1.36K views   5 months ago

हमारे घरों के अन्दर की बात जिसे हम देखकर भी अनदेखा कर देते हैं।

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें

sachinomgupta   24 views   7 months ago

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें, जिसने इश्क़ जरा भी किया न हो.

रिश्तो के मायने

nehabhardwaj123   1.43K views   6 months ago

सुषमा जी ने अपनी बेटी रीमा को उसकी शादी से पहले सीख दी कि हर रिश्ता अपना अलग स्थान रखता है एक दूसरे में उन्हें खोजने की कोशिश न करे

तेरी दुनिया से मै होकर मजबूर चला…!

chandrasingh   1.16K views   6 months ago

जिन्दगी मे हर इन्सान बेहतर होता है। उससे बेहतर की तलाश मे न भटके उसे ही बेहतर बनाने की कोशिश करे। नहीं तो क्या पता उससे बेहतर की तलाश मे वो भी न हाथ से निकल जाये।