RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

पराया धन

sonikedia12   1.37K views   11 months ago

हमारे घरों के अन्दर की बात जिसे हम देखकर भी अनदेखा कर देते हैं।

यह कैसा बधावा? ज़रूरत या दिखावा!

rita1234   1.24K views   10 months ago

आज हम एक दिखावटी समाज में जी रहें हैं। यह भवना इतनी गहरी हो चुकी है कि कुछ बेटिया ससुराल में दिखावे के लिए अपने मायके से वक्त बेवक्त डिमांड करती रहती हैं और वे बिचारे भी बेटी का ससुराल है सोच कर किसी तरह उसकी मांगों को पूरा करते रहते हैं।

एकाधिकार

kumarg   891 views   4 months ago

नौकरीशुदा महिमा शादीशुदा भी थी।

बेटे का दर्द

Pallavi Vinod   1.78K views   8 months ago

अक्सर हम शादी के बाद बेटियों के जीवन मे आने वाले परिवर्तन और तकलीफ की बाद करते हैं,लेकिन बेटे के जीवन के बदलाव से मुख मोड़ लेते हैं।

पुनरावृत्ति

Priti Mishra   1.65K views   10 months ago

हम जो अपने माँ-पिता के साथ करते हैं वही हमारे बच्चे हमारे साथ करते हैं फिर हम इतने व्यथित क्यों हो जाते हैं

भाग्यलेख

Manju Singh   1.73K views   9 months ago

पति पत्नी के रिश्ते से बढकर शायद कोई रिश्ता नहीं होता दुनिया में लेकिन ऐसा सिर्फ औरत ही क्यों सोचती है ? क्या य्ह सिर्फ औरतों का ही फर्ज है कि वे हर हाल में रिश्ता निभाएँ।शायद है तो नहीं लेकिन वह अक्सर रिश्ता निभा ही जाती हैं ।

“दूर के ढोल सुहावने होते हैं” (सच है क्या?)

rita1234   1.10K views   9 months ago

अक्सर हम लोगों के पास जो रिश्ते होतें है उनकी कद्र न करके दूर के लोगों की तारीफ़ में लगे रहते हैं।

गुलामी नही सम्मान है ये प्यार

Mona Kapoor   1.03K views   7 months ago

आखिर क्यों प्यार को गुलामी का नाम दिया जाता है

चेहरे पर चेहरा

Pragati Tripathi   1.60K views   4 months ago

आप सही कहते हैं, दीदी भी बाबूजी को कितना प्यार करती हैं ना, अपने साथ बाबूजी को ले जाने की बात सुनकर वो तो बहुत खुश होंगी - माया बोली

खुशियों का पासवर्ड...

rita1234   1.05K views   1 year ago

आज के युवा वर्ग के पास साधन सुविधा एवं सम्पन्नता है इस सर्व समर्थ पीढ़ी के पास अगर कुछ नही है तो वह है वास्तविक खुशिया जो की अमूल्य होतीं हैं।

प्रेमालाप

mmb   923 views   6 months ago

प्रेम शादी के बाद गाड़ा होता जाता है

रिश्तों की कॉम्प्लिकेशन

nis1985   193 views   1 year ago

आखिर वो दिन आ ही गया जब जतिन ने रिया से अपने दिल की बात कह दी,उस दिन जतिन बहुत सहमा हुआ सा था उसे पूरा विश्वास था कि रिया उसे ना नहीं बोलेगी

कहानी का शीर्षक - डर

varmangarhwal   1.27K views   4 months ago

सिमरन और विकास दोनों एक-दूसरे आँसू पोंछते हुए पार्क से बाहर आते हैं और सिमरन बार-बार पलट कर विकास को देखते हुए आँखों में आँसू लिये बस स्टॉप की तरफ चली जाती हैं। विकास वहीं खड़ा रहकर नम आँखों से उसे जाते हुए देख रहा हैं।

कहानी-- नारी अधिकारों के शिकार

sunilakash   1.07K views   10 months ago

नारी उत्पीड़न को रोकने के लिए बने कानूनों को मुट्ठी में पकड़कर, पति के परिवार की नारियों और खुद पति को भी आतंकित रखने वाली चालाक महिलाओं की कहानी।

एक चिट्ठी की कहानी!

rishav   70 views   1 year ago

एक कहानी जो दरवाज़े पर पड़े एक ख़त में शुरू और खत्म हुई, जिसका पता चला बारह सालों के बाद!! क्या हुआ आगे!?