RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

चेहरे पर चेहरा

Pragati Tripathi   1.61K views   11 months ago

आप सही कहते हैं, दीदी भी बाबूजी को कितना प्यार करती हैं ना, अपने साथ बाबूजी को ले जाने की बात सुनकर वो तो बहुत खुश होंगी - माया बोली

प्रेमालाप

mmb   930 views   1 year ago

प्रेम शादी के बाद गाड़ा होता जाता है

हथियार

Sharma Divya   1.52K views   11 months ago

अपनी दोस्ती की हद्द को लांघते शेखर को शिखा ने सिखाया सबक

चौराहे के दाढ़ी वाले बाबा....( एक प्रेम कहानी काल्पनिक)

chandrasingh   732 views   1 year ago

एक धुंधली सी परछाई मे उसकी यादें फिर उसके सामने उभर आयी थी । बहुत दिन बाद जब उसकी बढ़ी हुई मैली, कुचैली और लम्बी दाढ़ी बनी तो उसमें से उभर कर आया एक चांद सा चेहरा। खुद का चेहरा देख वो कुछ पल मुस्कुराया, फिर पता नही क्या सोच उसके आंखों मे कुछ अश्क उतर आया।

गुलामी नही सम्मान है ये प्यार

Mona Kapoor   1.04K views   1 year ago

आखिर क्यों प्यार को गुलामी का नाम दिया जाता है

पगफेरा

nidhi510   331 views   1 year ago

अपनी बेटी को आर्थिक मानसिक व सामाजिक स्थिरता प्रदान करने के लिए एक माँ के संघर्ष की कहानी जहाँ दमाद सामाजिक मान्यताओं को तोड़ निभाता है बेटे होने का फर्ज ।

एक बेटी की व्यथा

poojaomdhoundiyal   1.40K views   1 year ago

क्या बेटियों को शादी करते ही अपने मायके के रिश्तों पे हक़ छोड़ देना चाहिए? क्या बेटियों को मान देने का मतलब सिर्फ महंगे उपहार, या चंद रुपये या उनके ससुराल वालों की ख़ुशी के लिए रिश्ते निभाने तक ही सीमित होता है?

चिरैया” जो मर कर भी उड़ती रही

dhirajjha123   257 views   2 years ago

भगलू ताऊ ने हुक्के का दम मारते हुए अपना हुकुम बजाया “101 क्या, पूरे 251 मिलेंगे, बस चिरैया बाई को नचवा दो । वो नाचेगी तबै मिलेंगे पैसे । बिना उसके नाचे तो चवन्नी ना मिलेगी”

पुनरावृत्ति

Priti Mishra   1.65K views   1 year ago

हम जो अपने माँ-पिता के साथ करते हैं वही हमारे बच्चे हमारे साथ करते हैं फिर हम इतने व्यथित क्यों हो जाते हैं

यादों की डायरी

chandrasingh   101 views   1 year ago

कहते हैं ना की, जिन्दगी को हम जितना सुलझाना चाहते हैं। वो हमें उतना ही उलझाती है। ज़िन्दगी को अपनी जिन्दगी में सुलझना बहुत कठिन है। इस लिये हमे कोशिश भी नहीं करनी चाहिए। वो जैसी चल रही हैं हमें उसे वैसे ही चलने देना चाहिए।

एक छोटी सी कोशिश बेटी के मन की बात कहने की

soni   52 views   1 year ago

लोग कहते है कहीं कुछ छुटा तो नहीं अब उन्हें कौन समझाए कुछ नहीं सबकुछ तो छुट गया नैहर में...

आखिरी रक्षा बन्धन

kavita   665 views   2 years ago

एक बहन और भाई के अटूट प्रेम और मृत्यु रूपी बिछोह के ताने बाने से बुनी एक करुण कथा..!

हम इतने भी पराये नही

kavita   2.55K views   1 year ago

विवाहोंपरांत बेटियों की मायके में उत्तरदायित्व पूर्ण भूमिका पर आधारित कथा

अनजान मुसाफ़िर

akanskha pandey   470 views   1 year ago

मोहब्बत जो कुछ अधूरी सी ,जब किसी से मोहब्बत हो जाये और वो यूं अचानक से दूर हो जाये हमारी आज की कहानी।

माँ की पराई बेटी !!

nehabhardwaj123   2.35K views   1 year ago

ये कहानी है सुजाता जी की जिनकी बेटी ने आपमे जीवन के कड़वे अनुभवों से सीख लेते हुए अपनी माँ को एक अच्छी सास बनने के लिए प्रेरित किया