RELATIONSHIP

FILTERS


LANGUAGE

तुम रो लो परदेश में , नहीं भीगेगा माँ का प्यार....!

chandrasingh   47 views   2 years ago

माँ एक पवित्र भावना है, संवेदना है, कोमल अहसास है। तपती दोपहरी में मीठे पानी का झरना है। एक खुशबु है। वो माँ जो कभी मिटती नहीं। देह मिट भी जाये तो अपने बच्चों की देह में रूह बन कर सिमट जाती है।

​सपनों वाली शादी (बूढ़ी सी प्रेम कहानी)

dhirajjha123   38 views   2 years ago

“ये स्टेज पर लाल रंग के फूल लगाओ यार, हमारे बुढ़ऊ को उनकी हमारी बुढ़िया के लिए लाल रंग के फूल ही पसंद हैं ।” काम की व्यस्तता के बीच परिधांश ने माहौल को थोड़ा मज़ाकिया रंग देने के लिए ये बात कही ।

अम्मा -2 (अम्मा के जाने के बाद )

nehabhardwaj123   33 views   1 year ago

अम्मा को गए तीन साल हो गए, पर कुछ रिश्तो में अभी भी खटास बाकी है जिन्हें समय के साथ काफी सूझ बूझ से सुलझाया गया ।

છેલ્લી ઘડીએ

ashutosh   28 views   1 year ago

સાક્ષી ખરેખર આજે એક બુઢાપાની ઊંમરે પાંગરી રહેલા નવા પ્રેમની સાક્ષી બનવાના પ્રયત્નો કરી રહી હતી અને હું તેમાં આડખીલીરૂપ બન્યો હતો. હવે? હવે કરવું શું?

हँसी मतलब

sonikedia12   26 views   2 years ago

अगर कोई लड़की या औरत किसी से हँसकर या खुलकर बात करे तो कई बार लोग उसका मतलब कुछ ओर ही लगा लेते हैं ।

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें

sachinomgupta   26 views   1 year ago

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें, जिसने इश्क़ जरा भी किया न हो.

इंतज़ार करूंगा

dhirajjha123   23 views   2 years ago

ओह हाँ याद आया तुम बेटी हो ना जिसके अधिकार के लिए सब लड़ रहे हैं घबराओ मत तुम्हें तुम्हारा हर हक़ मिलेगा

एक चिट्ठी उस कमज़ोर लड़की को जो अब कमज़ोर नहीं

dhirajjha123   22 views   2 years ago

कभी सोचा ही नहीं कि तुम्हारे बिना भी रहना पड़ सकता है । मगर समय है किस ओर करवट ले कौन जानता है इसीलिए चंद बातें जो तुम्हे कहना चाहता हूँ ठीक वैसे ही जब छोटे थे तब माँ घर से अकेले बाहर जाते हुए समझाती थी ।

तेरे प्यार के बही-खाते...(नज़्म)

Mohit Trendster   20 views   2 years ago

अटूट रिश्ते की उधड़ी डोर से बनी नज़्म...

सबसे बड़ा तीर्थ : माता-पिता का घर

harish999   20 views   2 years ago

अगर भगवान न होते तो तब भी हम इस धरती पर आते, क्योंकि हमारे माता-पिता ने हमको जन्म देने का फैसला कर दिया था.

​जी लूँ तुम्हारे अहसास संग

dhirajjha123   17 views   2 years ago

“क्या है कबीर ? अब आपको क्या हुआ । मान भी जाओ ना, अच्छा सुनो चलो आज हम कहीं घूम कर आते हैं । कोई अच्छी सी फिल्म देखेंगे और खाना बाहर ही खाऐंगे वो भी आपकी फेब डिश । हाँ जानती हूँ आपको मेरे और माँ के हाथ का ही।

उसकी और उसके उसकी बातचीत

dhirajjha123   17 views   2 years ago

“जानते को कल मैंने एक सपना देखा” “कुछ उत्पतंग ही देखा होगा” “हाँ हाँ सरे सही सपने तो तुम्हे ही आते हैं ना, जाओ नहीं बताती हुंह”

इंतज़ार, उम्मीद, और विश्वास समेटे वो आठ साल

dhirajjha123   16 views   2 years ago

कुछ प्रेम कहानियों को शब्दों या किसी की कल्पना की ज़रुरत नहीं होती, वो खुद में एक गाथा होती है और ये कहानियां उन जंगली फूलों की तरह हैं जिन्हें सोच समझ कर सुन्दर बगिया में नहीं लगाया जाता यह किसी भी परिवेश किसी भी हालत किसी भी जगह बिना सोचे समझे अपने आप ही उग जाती हैं

Love; A Big Gamble!

Rajeev Pundir   16 views   2 years ago

Falling in love is natural. Where it's divine for one, it may turn out to be a curse for the other. People play games in love. So fall in love, but with caution--You may be used, misused, exploited, and ditched.

Relationships

authormeith   15 views   2 years ago

What Is Relationship? What Is Love? Do You What Love Is All About? Read The Conversations Below Of Two Persons.