RELATIONSHIP

"यादों का रिश्ता " भाग 1

ritumishra20   310 views   5 days ago

एक प्यारा सा खुबसूरत सा यादों का बन्धन जिसे ना किसी ने बाधा और ना किसी ने छोड़ा..

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें

sachinomgupta   12 views   5 days ago

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें, जिसने इश्क़ जरा भी किया न हो.

रूठे रूठे पिया..!

kavita   1.52K views   6 days ago

पति पत्नी की लड़ाई और फिर एक दूसरे को मना लेने की कवायद और आपसी रिश्तों की समझ से जुड़ी दिलचस्प कहानी

उधार की जिंदगी

rajmati777   686 views   2 weeks ago

एक ऐसी महिला की कहानी जो अपने अस्तित्व की रक्षा के लिए संघर्षरत है और अपने भविष्य को लेकर असुरक्षित महसूस करती है।

टूटे रिश्ते

kumarg   301 views   2 weeks ago

कुछ लोगों की आदत होती है अक्सर टूटी हुई चीज़ों को ढोते जाते हैं। कुछ लोग उससे दूर भागते हैं

एक अदद गुलदोपहरी का फूल

rgsverma   134 views   2 weeks ago

एक अनजान, पर जुझारू महिला का यह इंट्रो पढ़कर मुझे एक बहुत ही सकारात्मक सुकून मिला. मुझे माधुरी ने अपना न तो फोन नंबर दिया था, और न ही कोई ई-मेल या वास्तविक पता. मैंने कभी उसकी जरूरत समझी भी नहीं थी. कुछ रिश्तों को अनाम छोड़ देना ही हितकर होता है-- सबके लिए.

नोंक-झोंक

sachinomgupta   676 views   2 weeks ago

पति-पत्नी के कुछ अनचाहे झगडे को लिखा है, जिसमे पति को ज्यादा बोलने की इजाजत नहीं है।

अनजान मुसाफ़िर

akanskha pandey   350 views   2 weeks ago

मोहब्बत जो कुछ अधूरी सी ,जब किसी से मोहब्बत हो जाये और वो यूं अचानक से दूर हो जाये हमारी आज की कहानी।

किस्मत से मिले हो तुम

akanskha pandey   592 views   3 weeks ago

कुछ अनकहे रिश्ते जो बरसो बीत गए मगर मोहब्बत कभी नहीं बदलती। यही हमारी कहानी में देखेंगे आप।

उड़ान पंखों की

rajmati777   299 views   1 month ago

जिन्दगी में प्यार बहुत जरूरी है क्योंकि प्यार के बिना जीवन अधूरा सा लगता है। पर कभी परिस्थितियां ऐसी सामने आ जाती है कि चाह कर भी रिश्ते को अटूट बंधन में नहीं बांध सकते। अहंकार रिश्तों की डोर को तोड़ देता है।

नियति

kavita   1.71K views   1 month ago

प्रेम में लंबी प्रतीक्षा के बाद , बंजर धरती पर प्रेम सिंचन की अद्भुत कथा..!

यही तो इश्क है भाग-१०

nis1985   269 views   1 month ago

तेरे इंतजार में पलकें बिछाय बैठी हूँ, तू बस एक नजर देखे,और मैं निखर जाऊं....! ये बिंदिया,झुमका और कँगना सजाये बैठी हूँ, तू बस एक नजर देखे,और मैं निखर जाऊं....!!

यही तो इश्क है भाग-९

nis1985   442 views   1 month ago

मेरी आँखों का तारा, मेरा राजदुलारा है तू, मेरे बेटे इस जीवन से भी प्यारा है तू....! नाजो से पाला आँचल के तले सुलाया है तुझे, मेरी उम्मीद और इस घर का उजाला है तू....!!

बेटे की चाह में तड़पता मातृत्व

poojaomdhoundiyal   1.37K views   1 month ago

“ नहीं हम ये बच्चा गोद नहीं ले सकते।” “ क्यूँ ?” “ क्यूंकि मुझे एक बेटा चाहिए।” “बेटा!!” “हाँ , बेटा । इतने साल बाद किसी बच्चे के माँ बाप बने और वो भी एक लड़की के ।”

मेरी वो दुनिया(भाग 2)

gauravji   50 views   1 month ago

बीच मझधार में डूबती-उबरती प्रेम की दास्तां।

यही तो इश्क है भाग-८

nis1985   124 views   1 month ago

मंदिरी और आनंद की वो इश्क वाली नोकझोंक चल ही रही थी, हाय! उससे इश्क का रंग और भी गहरा हो रहा था दोनों के बीच

यही तो इश्क है भाग-७

nis1985   139 views   2 months ago

"मंदिरी और आनंद दिल मे मोह्हबत के दिये जलाये अपने-अपने घर को चल तो दिये,लेकिन दोनों के दिल और और दिमाग मे अब शायद किसी और के लिए जगह ही नही बची थी,की कुछ और भी सुनाई दे,सिवाय एक दूसरे की धड़कनों के।

'दोस्ती से ज़्यादा प्यार से कम'-एक प्रेम कहानी

ritu sinha   299 views   2 months ago

जब दोस्ती प्यार में बदलती है तो सब अच्छा लगता है। हर दिन खुशनुमा सा लगता है। लेकिन जब प्यार प्यार दोस्ती में बदलती है तो एक अजीब सी टीस उठती है दिल मे जिसे न छुपाया जाए न सहा जाए।

मेरी वो दुनिया

gauravji   455 views   2 months ago

आज तुम मुझे इस मझधार में अकेला छोड़ कर खुद किनारे लगने की कोशिश कर रहे हो ना रवि, पर याद रखना जब तुम किनारे लगोगे ना तो इन सपनों की टूटी हुई काँच तुम्हारे पैरों में जरूर चुभेगी और तुम तब भी मुझे ही मेरे दुपट्टे से तुम्हारी जख्मों को पोछते हुए देखोगे

यही तो इश्क है भाग-६

nis1985   119 views   2 months ago

"उफ्फ! क्या नजारा था, मानो ये पल बस यही रुक जाए, बस यही पर रुक जाए!!!

यादों की डायरी

chandrasingh   71 views   2 months ago

कहते हैं ना की, जिन्दगी को हम जितना सुलझाना चाहते हैं। वो हमें उतना ही उलझाती है। ज़िन्दगी को अपनी जिन्दगी में सुलझना बहुत कठिन है। इस लिये हमे कोशिश भी नहीं करनी चाहिए। वो जैसी चल रही हैं हमें उसे वैसे ही चलने देना चाहिए।

दीवाली और वो ख्वाब

ritumishra20   95 views   2 months ago

रूहानी और सच्चे प्रेम की एेसी कहानी जहां उम्र की कोई सीमा नहीं है लेकिन सामाजिक मूल्यों को स्वीकारती ये प्रेम कहानी केवल एक एहसास और ख्वाब बन के रह जाती है

बहन जी टाइप

kavita   154 views   2 months ago

दो जुड़वा बहनों की मज़ेदार कहानी अलग व्यक्तित्व अलग व्यवहार से उलझती और सुलझती हुई जिंदगी की कहानी

यही तो इश्क है भाग-५

nis1985   310 views   2 months ago

◆"इश्क के रंग में सराबोर होकर फाइनली मन्दिरी और आनंद माँ के साथ शॉपिंग को निकल पड़े।