sonikedia12

0

Most recent posts

एक बार

जिंदगी मैं तेरी सहर में ना सही ..

'सहर '

मैं कोई गुजरा हुआ वक्त नहीं ....

साथ

सूरज कब चाँद से मिलता हैं रात कब दिन के साथ होता हैं

Shayari

किसी ने सुलगाया किसी ने हवा दी ।

एक दर्द

उड़ना चाहती थी वो पर ना ही टूटे पत्तों की तरह ना ही सूखे पत्तों की तरह लहराना चाहती थी पर ना ही फटे दामनों की तरह ना ही चिथड़ों की तरह ।

मेरे पास -Shayari

तुम रहते हो मेरे पास मैंने देखा है कई बार ..

नाम

कभी कभी इंसान उन गलतियों का बोझ ढोता हैं जो उसने किया ही नहीं ।

इश्क की बातें

सुनोगे जब भी तुम इश्क की बातें नाम मेरा याद आ जाएगा

दर्द

एक शराबी ने दूसरे से कहा किस दर्द ने तुझे यहाँ लाया बता सृष्टि ने तुझसे क्या खेल रचाया

हँसी मतलब

अगर कोई लड़की या औरत किसी से हँसकर या खुलकर बात करे तो कई बार लोग उसका मतलब कुछ ओर ही लगा लेते हैं ।

श्रेणी- Story/Domestic Violence

हाँ ये शब्द कई बार सुना । कई चोट और निशान भी देखे। पर उन चोटों और निशानों का क्या जो बड़े प्यार से दिए जाते हैं पर हम कई बार पहचान नहीं पाते और अंदर ही अंदर घुटते है एक जिंदा लाश की तरह जिसमें सिर्फ़ साँसे होती है पर खुद के लिए नहीं । इसमें गलती किसकी ये तय करना भी कठिन होता है ।

रंग

मनुष्यों का नाम बदल दो करे ये सबको बदनाम ।

Some info about sonikedia12

EDIT PROFILE
E-mail
FullName
PHONE
BIRTHDAY
GENDER
INTERESTED IN
ABOUT ME