rajmati777

1

Most recent posts

कोरा कागज़

एक ऐसे आदमी की कहानी जो अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी करने को तैयार हों जाता है। अपने परिवार, अपनी पत्नी तक को पराया दिखा औरतों से सहानुभूति लेता रहता है। और औरतें भी उसकी बातों में आ उसके लिए सब कुछ करने को तैयार हों जाती है। पर सही रुप में देखा जाय तो वो आदमी मानसिक रोगी की श्रेणी में आता है।

क्या यही प्यार है

वो हमसे पर्याय का इजहार करते रहे पर हमें उन पर विश्वास नहीं था। पर फिर भी दिल को समझाया, कर लें विश्वास। दुनिया में सभी एक जैसे नहीं होते। पर हमें क्या पता जिंदगी जिनके नाम करने जा रहे हैं वो तो.............. विश्वास के लायक ही नही है।

बिखरते रिश्ते

आज के समय में आदमी की जिंदगी भागमभाम में खो गई है। रिश्तों की परिभाषा बदल गई है। आदमी के पास ऐसा नहीं की वक्त नहीं है, है उसके पास वक्त, पर वह अपना वक्त बेनाम रिश्तों में व्यतीत कर रहा है।

Some info about rajmati777

EDIT PROFILE
E-mail
FullName
PHONE
BIRTHDAY
GENDER
INTERESTED IN
ABOUT ME