LIFE

FILTERS


LANGUAGE

बड़ी तकलीफ होती है

Nidhi Bansal   46 views   9 months ago

माँ के आँचल की छाँव बमुश्किल नसीब होती है एक माँ ही तो है जो दिल के करीब होती है

सिर्फ तुम

rajmati777   815 views   9 months ago

आज एक कार्यक्रम में शर्मा जी से मुलाकात हुई। उनके व्यक्तित्व को देख मैं बहुत अभिभूत हो गई। पर जब अनायास ही उनके घर जाना हुआ, और जो देखा तो दिमाग विचलित हो उठा।

बहू की उड़ान

jyotiorrajdeep   1.57K views   9 months ago

बहू बन कर केवल घर की जिम्मेदारी तक सिमट कर नहीं रहना चाहिए बल्कि अपनी पहचान बनानी चाहिए।

सुसाइड - ज़िम्मेदार कौन ?

abhi92dutta   803 views   9 months ago

देश में फैले विभिन्न नकली बोर्ड और यूनिवर्सिटी के कारण लाखों जीवन बर्बाद होना। और समाज में किस तरह यह जहर घोलता है । यही इस कहानी का सार है।।

मायका: ‘कुछ अहसास’ ‘कुछ उम्मीदें’... जो हर दिल में जगती है।।।

rita1234   710 views   9 months ago

मायका हर लड़की के जीवन में बेहद अहम होता है। किसी भी लड़की का मायका उसे याद करता हो या नहीं मगर उसे ‘मायका’ का सम्मोहन हमेशा होता है।

अक्स

Sharma Divya   520 views   9 months ago

सच्चे प्रेम की दास्तां। दो प्यार करनेवाले एक दूसरे को अपनी रूह से चाहते है अगर प्रेम सच्चा हो तो जीने की वजह देता है।

रेशमा

Sharma Divya   1.15K views   9 months ago

एक ऐसी लड़की की कहानी जिसने पहले प्यार में धोखा खाया और देहव्यापार मे धकेली गई लेकिन अपने सच्चे प्यार के लिए खुद को मिटा देती हैं।

नई पीढ़ी नये रंग

Manju Singh   253 views   9 months ago

तब और अब का अन्तर हमेशा रहा है किन्तु यदिथोदी सी समझदारी दिखाई जाये तो शायद हम इस अन्तर को समाप्त कर सकते हैं।

रामरस

kumarg   440 views   9 months ago

गरीब के पेट पर लात पड़ती है तो सांप की तरफ फुंफकारता है गजोधर भी फुंफकारे। लेकिन ढ़ोरबा सांप से कौन डरता है । कुछ ही देर में कुचाकर चोखा बन गए ।

महिलाओं का पहनावा

nehabhardwaj123   1.56K views   9 months ago

ये कहानी है वंदना की, जो अपनी गर्भावस्था के कारण पूजा में साड़ी की जगह सूट पहन लेती है, लेकिन अपनी नन्द साक्षी के कारण अपनी सास को समझाने में भी सफल हो जाती है

नालायक बेटा !!

nehabhardwaj123   1.18K views   9 months ago

ये कहानी है रमा की और उसके बेटे राकेश की जो एक बीमारी से ग्रस्त है

गुम होते ख़त...

mitikaarora   3 views   9 months ago

With sprinting years and enhancing technology, the art of writing letters is lost.

ए जिदंगी

Nidhi Bansal   48 views   9 months ago

हमेशा क्यो जिदंगी की सुने क्यों उसके हिसाब से चलें। आओ आज कुछ बातें जिदंगी के साथ करते है।आज अपनी खाली झोली में कुछ तारें और महताब भरतें है।।

वो खत.... अहसासों के !

rgsverma   469 views   9 months ago

कुछ खतों में सिमट अहसास, और जीवन के साधारण से पलों की सहज व्याख्या है यह कहानी। और वह अहसास ओढ़ कर ही समझे जा सकते हैं। आइये, पढ़ें--

सुमन, तुम अभागन हो ....

swappy   1.59K views   9 months ago

सच्ची कहानी सुमन की, जो अभागन का दाग लिए दुनिया में आई और आज तक अभागन बन कर ही जी रही है .न न्याय की उम्मीद है न किसी चमत्कार की आशा.