LIFE

FILTERS


LANGUAGE

अंत

mmb   1.14K views   1 month ago

उसको अपने अंत का अहसास होने लगा था

उठती उंगलियाँ

rajesh   1.12K views   5 months ago

तुम्हारी विवेचना का तो यह अर्थ हुआ कि लड़कियां सुसराल न जाकर पितागृह में ही अपने कर्तव्य को निभाती रहे।" इसबार उसका बहनोई अनिरुद्ध ढाल बनकर आगे आए।

निशा तुम डरती क्यों हो??

rita1234   1.08K views   7 months ago

ससुराल में अपनी जिम्मेदारियों को बखूभी निभाती निशा को सासु माँ से मायके जाने की इजाज़त लेने में बहुत डर लगता है

ममता की जीत

Manju Singh   1.02K views   5 months ago

शादी के दस साल बाद मेरी बेटी माँ बनी और उस वक्त उसे भगवान ने बस बचा ही लिया। बच्चे के भाग्य से जीवन का वरदान पाया उसने।

तू धूप है छम्म से बिखर

Pallavi Vinod   1.01K views   3 months ago

अपनी जवान होती बेटी को आधुनिकता के भटकाव से एक माँ ही निकाल सकती है।

अब वो कभी वापस नहीं आयेगा.

Maneesha Gautam   1.01K views   5 months ago

बस के पीछे लिखा था - IF YOU SEE RASH DRIVING.. PLEASE CALL.........लेकिन आज तक किसी ने फ़ोन लगाया ही नहीं था

ये कैसी मानसिकता

rajmati2000   947 views   5 months ago

आज मेरी भांजी का मेडिकल में चयन हो गया। सभी के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी थी। अपने नाना के सपनों को साकार करने जा रही थी।

बच्चों का बचपन जी लें...

rita1234   923 views   7 months ago

दैनिक जीवन की भागदौड़ भरी दिनचर्या में हम रोज़ बेहद कीमती पलों को नही जी पाते। वो है हमारे “बच्चो का बचपन” जिसकी कसक बाद में बेहद टीसती है।

नार्मल डिलीवरी ही होनी चाहिए।

Maneesha Gautam   871 views   9 months ago

वो पिकं रेखाएं माँ बनने की परीक्षा में पास होने के संकेत थे। आंनद ,रमा का पति भी संपूर्णता की परीक्षा में सफल होकर गर्व महसूस कर रहा था।

सुकून की तलाश

Kavita Nagar   868 views   5 months ago

कैसे पकंज को अपनों से अलग होते ही संसार की वास्तविकता समझ आई, और अपनी भूल का एहसास हुआ।

चीनी

kumarg   847 views   3 months ago

चीनी फज्र की नमाज के बाद खाँ साहब गणेशी के चाय की थड़ी पर अखबार पढ़ने बैठ गये। अभी भट्टी गरम होने में कुछ समय था ग्राहक इंतजार से ऊब चले न जाएं इसलिए गणेशी ने टीवी ऑन कर दिया। समाचार आ रहे थे जवानों से भरी बस में हुआ विस्फोट।

सिर्फ तुम

rajmati777   814 views   6 months ago

आज एक कार्यक्रम में शर्मा जी से मुलाकात हुई। उनके व्यक्तित्व को देख मैं बहुत अभिभूत हो गई। पर जब अनायास ही उनके घर जाना हुआ, और जो देखा तो दिमाग विचलित हो उठा।

सुसाइड - ज़िम्मेदार कौन ?

abhi92dutta   800 views   6 months ago

देश में फैले विभिन्न नकली बोर्ड और यूनिवर्सिटी के कारण लाखों जीवन बर्बाद होना। और समाज में किस तरह यह जहर घोलता है । यही इस कहानी का सार है।।

बाबुल की दुआएँ लेती जा

Maneesha Gautam   723 views   4 months ago

भूगोल तुमने पढा़ दुनिया को समझने के लिए, कौन सा देश कहाँ है किसकी क्या वास्तु स्थिति है,  हो सकता है तुम्हे अपने नये घर का भूगोल पंसद ना आये पर सांइस का जडत्व का नियम हमेशा याद रखना

मायका: ‘कुछ अहसास’ ‘कुछ उम्मीदें’... जो हर दिल में जगती है।।।

rita1234   709 views   6 months ago

मायका हर लड़की के जीवन में बेहद अहम होता है। किसी भी लड़की का मायका उसे याद करता हो या नहीं मगर उसे ‘मायका’ का सम्मोहन हमेशा होता है।