LIFE

FILTERS


LANGUAGE

प्रेम भूत

dhirajjha123   49 views   1 year ago

प्रेम है भई ! उसका क्या भरोसा कब , कहाँ , किसके साथ और किस उम्र में किस उम्र से हो जाये | ये तय होता तो हर कोई अपने लिये हीरो हिरोईनों को ही चुनता | फिर गाँव की गुंजवा , नैनतरवा , खुसिया भी सलमान खान को अपना साझा पति बना लेतीं |

ए जिदंगी

Nidhi Bansal   48 views   1 year ago

हमेशा क्यो जिदंगी की सुने क्यों उसके हिसाब से चलें। आओ आज कुछ बातें जिदंगी के साथ करते है।आज अपनी खाली झोली में कुछ तारें और महताब भरतें है।।

vivaah: ek nayi shuruaat

shashankbhartiya   57 views   1 year ago

एक टूटा हुवा दिल,और उस टूटे हुवे दिल से प्यार करने वाली,उम्मीदों से भरी,आँखों में सपने सजाये हुवे एक नवविवाहिता...

उस गाँव की स्त्रियां

nidhi   224 views   1 year ago

इन क्षेत्रों में कुछ प्रतिशत ही परिवार हैं जो इस मानसिकता से दूररहते हैंपर ज्यादातर लोगो में ऐसी छोटी मानसिकता वाले कीड़े ही दिमाग में बिलबिलाते है।।।

और फिर मनीशंकर भाग गया (एक कहानी युवाओं की)

dhirajjha123   117 views   1 year ago

अब वो अपने दायित्वों के निर्वाह से बिल्कुल नहीं डरता था और ना ही कहीं भाग जाने के बारे में सोचता था । कुल मिला कर वह अपनी उलझनों से बाहर निकल चुका था ।

दधीचि

kumarg   202 views   1 year ago

जमाने से उलट बेटी को कान्वेंट में डाला और बेटे को सरकारी स्कूल में। पत्नी ने आपत्ति की तो उसको समझाया दोनों कान्वेंट में पढ़े इतनी हमारी हैसियत नहीं है और बेटे का क्या है नहीं भी पढ़ेगा तो मजदूरी करके जी लेगा। बेटी जात है समय को देखते हुए उसका पढ़ा लिखा होना जरुरी है।

जाने वालों ज़रा, मुड़ के देखो इन्हें..!

chandrasingh   24 views   1 year ago

देह से अधूरे है तो क्या आत्मा तो पूरी है न, मुस्कुराहटों में मिलावट तो नहीं है ना, इक सवाल अक्सर मन में उठता है कि विकलांग कौन? जिसकी देह अधूरी है वो या जिसे इश्वर ने देह तो सुन्दर दे दी लेकिन मन की सुन्दरता नहीं दिया ह्रदय में किसी के लिए प्रेम,?

हमको उठा लो भगबान (कहानी जैसा ही कुछ)

dhirajjha123   9 views   2 years ago

अच्छा सिला दिया तुने मेरे प्यार का यार ने ही लूट लिया घर यार का” ई गीत 36वीं बार बज रहा था । चाईना का फोन, कान फाड़ू अबाज, लोराएल झोराएल आँख के सामने खुलल दस रुपया में ली हुई दर्द भरी सायरी के किताब आ अँटा चालने वाला चलनी के जैइसे छलनी हुआ रमजनमा के दिल । दू महीना हो गया फूलबतिया के सादी हुए ।

दूजी कोख में 'अपना' बच्चा

Mohit Trendster   33 views   2 years ago

A tail of surrogacy and blackmail....

खलनायिका

swa   33 views   1 year ago

रिनी कभी अपनी मां को मां नहीं समझ पाई। जिस मां को उसकी मां के स्थान पर लाया गया था। उसने हमेशा सरला को एक सबसे बड़ी खलनायिका समझा और सरला कभी अपने आप को चाह कर भी अच्छी मां साबित नहीं कर पाई।

ख्वाहिशों वाली खिड़की

avinashsurajpur   230 views   1 year ago

"आसमान में आज काले काले बदल थे, न तारो के कोई निशान थे न चाँद था. फैली थी अंदर से चीखती हुई, अनंत सी ख़ामोशी. और बेजान सी हो गयी थी, ख्वाहिशों कि खिड़की भी."

कलरब्लाइंड साजन

Mohit Trendster   126 views   1 year ago

हॉस्पिटल में हुई जांच में रूही को पता चला कि आशीष को झूठ बोलना आता है। वो कई महीनों से छोटा मर्ज़ मान कर अपने फेफड़ों के कैंसर के लक्षण छुपा रहा था, जो अब बढ़ कर अन्य अंगो में फैल कर अंतिम लाइलाज चरण में आ गया था। अब आशीष के पास कुछ महीनों का वक़्त बचा था। दोनों अस्पताल से लौट आये।

जिन्दगी से कोई वादा तो नहीं था..!

chandrasingh   30 views   1 year ago

तुम बिन जीने का इरादा नहीं था जिन्दगी। पर मैं अब तुम बिन ही जीना चाहता हूँ। अब मुझे तुम्हारी जरुरत भी नहीं | इस बार जिन्दगी बड़ी मायूस होकर मेरे पास से चली गयी। जिन्दगी तुमसे कोई वादा नहीं था मेरा। हाँ लेकिन तेरे बिना जीने का अब इरादा है मेरा। सुबह हो गया।

खून का रंग लाल होता है, नीला नही.

Maneesha Gautam   482 views   1 year ago

अंधिकाशतय विज्ञापन में पैड की गुणवत्ता और क्षमता के प्रदर्शन के लिए नीले रंग के लिक्विड का इस्तेमाल किया गया. कई सवाल दिमाग में एक साथ आये कि नीले रंग का क्या मतलब है ? खून दिखाने के लिए नीला रंग क्यों? खून का रंग लाल होता है ,नीला नही.

ममता की जीत

Manju Singh   1.02K views   1 year ago

शादी के दस साल बाद मेरी बेटी माँ बनी और उस वक्त उसे भगवान ने बस बचा ही लिया। बच्चे के भाग्य से जीवन का वरदान पाया उसने।