LIFE

FILTERS


LANGUAGE

बहू या अलादीन का चिराग

harish999   62 views   8 months ago

पति को भगवान मानने वाले समाज में आखिर कब बहू-बेटियों को इस मानसिक, शारीरिक उत्पीडऩ से मुक्ति मिलेगी, यह सवाल हर समय हमको परेशान रखता है. आखिर ऐसा क्यों होता है और कब तक होता रहेगा?

Untold Story of Indian Soldier

Vaishnavi Vaishnav   49 views   8 months ago

मिशन desert strom start now!.....

​शायद इसीलिए हम हैं चरित्रहीन

dhirajjha123   1 views   1 year ago

शायद इसीलिए हम हैं चरित्रहीन अगर यही है चरित्र का हीन हो जाना है तो हम बिना चरित्र के ही खुश हैं अपनी बेरंग दुनियां में

गुलटेन

mrinal   20 views   11 months ago

मालिक,चार सौ से ज्यादा हो गया है आपके यहाँ। दे दीजिए ना, बड़ा दिक्कत चल रहा है। तड़ाक की आवाज़ से चाय दुकान पर बैठे सब लोग सहम से गये और गाल सहलाते हुये गुलटेन बाकी ग्राहकों को चाय देने लगा।

क्रियाकर्म

kumarg   87 views   8 months ago

एकमुश्त इतनी मौतें प्रशासन की परेशानी की वजह न बन जाए इसलिए रातों रात उन्हें बोरी में भर प्रशासन ने स्टीमर से दूसरी तरफ चोरगांव में फिंकवा दिया और वहाँ के मुखिया को कुछ पैसे देते हुए कहा इन लाशों को चुपचाप ठिकाने लगा दो और मुँह खोला तो गाँव में कोई न बचेगा ।

रंग का मोल

Mohit Trendster   8 views   1 year ago

आज भारत और नेपाल में हो रहीं 2 शादियों में एक अनोखा बंधन था।

बंद होना करो संवेदनाओं के नाम पर अपना फायदा निकालने का ये खेल

dhirajjha123   3 views   1 year ago

हम सब की ज़िन्दगी में कभी न कभी कोई न कोई बड़ा हादसा हुआ होता है । जो हमें जब भी याद आये तो हम भावुक हो जाते हैं, कई बार क्रोध आता है तो कई बार अनसु निकल आते हैं ।

अधूरे रिश्ते

chandrasingh   126 views   8 months ago

“आँखों में जल रहा है क्यों…? बुझता नहीं धुंआ..! उठता तो घटा सा है बरसता नहीं धुंआ”

दादी की यादें .....!

nehabhardwaj123   141 views   7 months ago

एक यादों में खोई सी राशि जो बरबस ही अपनी दादी को याद करते हुए उनकी ही दुनिया मे खो जाती है !

Living under the skin

Shrey Sharma   2 views   7 months ago

Emotions running wild when everything seems to fall apart

WOMEN'S ARE NOT TO PLEASE YOU.

beingsheblog   8 views   7 months ago

A women, is not here to please everyone, by her look, by her body, she is also a human, and people need to understand that. @beingsheblog

उम्मीदों की कश्ती-३

abhidha   71 views   1 year ago

'शायद मेरी शादी का ख्याल दिल में आया है, इसीलिए मम्मी ने तेरी मुझे चाय पर बुलाया है'

कर्मफल

prakash   58 views   7 months ago

क्या हमे इस जन्म मे भी पूर्व जन्म के कर्मों के फल भोगना होता है ? हमे इस जन्म मे मिलने वाले सुख या दुख का क्या पूर्व जन्म से भी कोई संबंध है या ये एक कोरी कल्पना मात्र है । ऐसी जिज्ञासा सदैव ही लोगों के मन मे बनी रहती है अतः एक छोटा स विश्लेषण .....

दर्द-ए-वेलेंगटाइन

arn   25 views   1 year ago

और सोचने लगा की दो साल कालेज मे खपाने के बाद भी किसी भी लड़की ने उस जैसे हैंण्सम को अपना बायफ्रेंड क्यो नही बनाया...........

सबै सयाने एक मत

prakash   17 views   7 months ago

कई बार हम वास्तविकता जाने बगैर ही परिस्थितियों को दोष देते हैं। लेकिन कई बार केवल परिस्थितियाँ या साधन ही दोषी नहीं होते अपितु हमारी सोच मे ही कोई दोष रह जाता है , और हम आत्मविश्लेषण किए बगैर ही किसी को भी दोष देते फिरते हैं ।