LIFE

FILTERS


LANGUAGE

वो तेरह दिन

kavita   1.76K views   2 months ago

पत्नी की असामयिक मृत्यु के बाद, एक पति के विरह और ग्लानि का विवरण

नारी का मन

sonikedia12   22 views   1 year ago

धू धू कर धधकता नारी का....... नहीं ...ये तन नहीं मन धधक रहा

बच्चो के राम, बड़ों के राम से अलग है..

shipratrivedi   19 views   10 months ago

राम की समझ आजकल बच्चो को बड़ों से ज्यादा है. बड़ों ने तो राम को एक समस्या बना दिया है जो कभी लोगो के बीच तो कभी कचहरियो मे सुनी जा रही है..

Mother-God In Flesh

troubleseeker11   11 views   10 months ago

A mother's feelings about her child as she grows old. The bond is described here.

" ब्लू व्हेल :- मौत की सौदागर "

Neha Neh   69 views   8 months ago

आत्महत्या करनें वालों के पास सबसे ज्यादा अपनों की कमी होती है। उस अपने की जिससे वो दिल की बात कह सके। कोशिश किजिये अगर किसी अपने के व्यवहार में अचानक से परिवर्तन आया है। तो आप उसके दिल की बात जान सके। यकीन माने आत्महत्या बहुत कम हो सकती है ,पर एक दोस्त एक हमदर्द अगर साथ हो तो ......

If I would be someone else !

mehrashanti   16 views   8 months ago

One fine morn , eyes peep into the mirror and she gets lost in a world , virtual yet which kept her spellbound and where all her torment was lost. But then she greets her own persona and then is compelled to ponder what if she would be someone ?

યાદ

pravinakadkia   166 views   5 months ago

એક માતાનાં મનોભાવની વાત છે. હૃદય્સ્પર્શીવાર્તા જરૂરથી વાંચશો.

कैसी भूल..

Kavita Nagar   1.45K views   4 months ago

अपनी शिक्षा के सहज सम्मान की इच्छा लिए शिक्षा सपनों की ससुराल के ख्बाब देख रही थी

मोर्चा

sidd2812   143 views   9 months ago

रात एक बजे उस माँ को क्या सूझी कि कश्मीर में सोते अपने बेटे को जगा दिया। उस माँ को किसी अनहोनी की आशंका थी, जैसे कुछ बुरा होने वाला है

लाउड स्पीकर

Piyush Shukla   26 views   1 year ago

लाउड स्पीकर का आविष्कार1900 में हुआ था किंतु 1935 सबसे पहले लाउड स्पीकर का उपयोग मस्जिदों के लिए किया गया था। मंदिरो के लिए इसका प्रयोग कब से किया गया इसके विषय में कोई जानकारी अभी तक प्राप्त नही हुई हैं। लेकिन एक लाउड स्पीकर औसतन 5 किलोमीटर के दायरे में अपनी आवाज को पहुचा सकता है।

पुरुष आत्महत्या का सच

Mohit Trendster   28 views   11 months ago

मर्द इतनी अधिक संख्या में आत्महत्या क्यों करते हैं। इसका एक बड़ा कारण...

प्रेम भूत

dhirajjha123   46 views   1 year ago

प्रेम है भई ! उसका क्या भरोसा कब , कहाँ , किसके साथ और किस उम्र में किस उम्र से हो जाये | ये तय होता तो हर कोई अपने लिये हीरो हिरोईनों को ही चुनता | फिर गाँव की गुंजवा , नैनतरवा , खुसिया भी सलमान खान को अपना साझा पति बना लेतीं |

बुर्का बेहया

Amritanshu Yadav   22 views   1 year ago

प्रचलित सामाजिक रूढ़ि एवं समाज मे फैली धार्मिक अराजकता पर तंज कसती हुई हिंदी के सबसे युवा रचनाकार की एक कृति..

बरगद

Amritanshu Yadav   6 views   1 year ago

एक कविता है जो समसायिक विश्व में स्वार्थीपन पर तंज कसती है...

That Lady

nischay   19 views   1 year ago

It always wondered me that what it's like to be the old person, who just waits for death to engulf his/her tedious and painful life.