LIFE

FILTERS


LANGUAGE

आजादी ......!

nehabhardwaj123   308 views   2 years ago

ये कहानी है एक नन्हे लड़के छोटू की जो बड़े सपने लेकर गांव से शहर आता है। लेकिन शहर जाने के बाद एक वर्ष संघर्ष के बाद फिर से आजादी पाने की।

मानव श्रेष्ठ

Rajeev Pundir   302 views   1 year ago

अक्सर हमें यही उपदेश दिया जाता है कि पृथ्वी पर पाए जाने वाली सभी योनियों में मानव योनी सर्वश्रेष्ठ है I लेकिन क्या ये सही है ? शायद नहीं I हर एक जीव जंतु पशु पक्षी अपने में सम्पूर्ण है I अस्तित्व की इस लड़ाई में वो किसी को हरा भी सकता है और किसी से हार भी सकता है I

जिंदगी की परीक्षा

kavita   299 views   1 year ago

माँ की मृत्यु के उपरांत नितांत अकेले पिता द्वारा पुत्र के पालन पोषण में उभरती वस्तु स्थिति एवम पिता पुत्र के बीच के प्रेम का अनूठा वर्णन

क्यूटिया

kumarg   291 views   10 months ago

वह आंचल समेटकर दुआएं देती चली तो गई। लेकिन बालक मेरी तरफ देख कुटिल मुस्कान देता हुआ आंटी से संबोधित हुआ " कुछ लोग इतने क्यूट होते हैं कि खुद के पाजामे में एक दिन गांठ पर जाए तो जमाने भर को लुंगी पहनने की सलाह देते फिरते हैं।"

निराशा

Rajeev Pundir   263 views   1 year ago

दूसरों की मजबूरियां किस तरह हमारी समझ में नहीं आती और हमारे लिए एक पहेली बन कर रह जाती है , पढ़िए इस कहानी में I

दुनिया इतनी भी बुरी नहीं है

poojaomdhoundiyal   247 views   1 year ago

दुनिया जैसी देखती है या खुद को जैसा दिखती है वैसी है नहीं। जीवन और उसकी सच्चाई के कई पहलू हैं।

शान्ति

mmb   244 views   2 years ago

अपने स्वार्थ के लिए पढ़ी लिखी लड़की को पागल बना दिया

ख्वाहिशों वाली खिड़की

avinashsurajpur   230 views   1 year ago

"आसमान में आज काले काले बदल थे, न तारो के कोई निशान थे न चाँद था. फैली थी अंदर से चीखती हुई, अनंत सी ख़ामोशी. और बेजान सी हो गयी थी, ख्वाहिशों कि खिड़की भी."

A lucky Number ( love on a phone call)

shubh244   225 views   2 years ago

This story is about a boy who was lonely. A day before a Valentine's day, a girl called him and said " hello.! I dialed a lucky No. ?" Boy talked rudely. He realized his mistake soon and apologized her. Now they talk for hours and boy is in love with her. They decided to meet but boy never met.

उस गाँव की स्त्रियां

nidhi   224 views   1 year ago

इन क्षेत्रों में कुछ प्रतिशत ही परिवार हैं जो इस मानसिकता से दूररहते हैंपर ज्यादातर लोगो में ऐसी छोटी मानसिकता वाले कीड़े ही दिमाग में बिलबिलाते है।।।

मुक्ति

Avinash Vyas   213 views   2 years ago

एक ऐसे अनाथ बच्चे की कहानी जिसे बाल श्रमिक के रूप में जूता फैक्ट्री से मुक्त करवाया गया और छोड़ दिया गया भूख से मरने के लिये।

सच्चा सैल्यूट

Mohit Trendster   204 views   1 year ago

विमलेश - "अच्छा, थाने के आस-पास ये बुढ़िया कौन घूमती रहती है? इतना मन से सैल्यूट तो सिपाही नहीं मारते जितने मन से वो सैल्यूट करती है।" दीवान - "अरे वो पागल है सर कुछ भी बड़बड़ाती रहती है। डेढ़ साल से तो मैं ही देख रहा हूँ..."

दधीचि

kumarg   202 views   2 years ago

जमाने से उलट बेटी को कान्वेंट में डाला और बेटे को सरकारी स्कूल में। पत्नी ने आपत्ति की तो उसको समझाया दोनों कान्वेंट में पढ़े इतनी हमारी हैसियत नहीं है और बेटे का क्या है नहीं भी पढ़ेगा तो मजदूरी करके जी लेगा। बेटी जात है समय को देखते हुए उसका पढ़ा लिखा होना जरुरी है।

मेरा‌ ‌वजूद है भी ‌या ‌नहीं????

Anonymous
  198 views   2 years ago

वजूद के सवालों में घिरी जिन्दगी....

बरगद

aparajita   193 views   2 years ago

आसमान छूना भी उतना ही आवश्यक है जितना की जमीन से जुड़े रहना.. बस यही प्रेरणा और सन्देश दे रही है कहानी !