INSPIRATIONAL

FILTERS


LANGUAGE

वो चाय आज भी ड्यू है. (स्मृति शेष)

rgsverma   264 views   1 year ago

मैं अवाक रह गया पर उन्होंने आगे बताया कि , "इंटरव्यू उनका लिया जाता है जिनसे हम अपरिचित हों, न मेरी तुमसे कोई रिश्तेदारी है, न कोई व्यक्तिगत परिचय, पर तुम गज़ब लिखते हो, दिल से लिखते हो, सो भूल जाओ कि मैंने तुम पर कोई अहसान किया है. चयन तो तुम्हारा ही होना था, ..." मैं नि:शब्द हो गया.

प्रतीक्षा उस दिन की

Manju Singh   571 views   8 months ago

देश की आज़ादी के इतने साल बाद भी औरत इस देश अपनी आज़ादी की प्रतीक्षा कर रही है ।

परवरिश

kumarg   1.60K views   8 months ago

उसने हामिद की ठुड्ढी पकड़ कर पुचकारा " खा ले बेटा। देख न कितना काम है सबको कल ही सिल के देना है । " उसने पैर पटका "परसों सिल के दोगी तो क्या होगा ? " "नहीं बेटा पंद्रह अगस्त तो कल है न। झंडा तो कल ही फहरेगा सबका। "

हम क्यों नहीं हासिल कर सकते अपना लक्ष्य

harish999   10 views   1 year ago

क्या कभी किसी ने सोचा था, चांद पर घर बसाने की या आसमां में उडने की। लेकिन करने वालों ने यह भी संभव बना दिया। तब फिर हम अपने लक्ष्य को क्यों नहीं हासिल कर सकते।

रीति- रिवाज़

Manju Singh   2.69K views   8 months ago

रीति रिवाज़ तभी तक अच्छे लगते हैं जब तक समाज या परिवार को हानि ना पहुंचायें । ऐसे रीति रिवाज़ किस काम के जो जान लेने पर ही आ जाएँ।

"डर"

dhirajjha123   0 views   1 year ago

क्या तुम जानते हो सबसे बहादुर होता है ये डर हाँ मैं सच कह रहा हूँ

सिगरेट

mrinal   38 views   1 year ago

आफिस से घर पहुंचते ही विवेक ने पूछा, बिटबा कहाँ है? पल्लवी ने नाराजगी दिखाते हुये कहा, आप बिटिया को बिटबा कहते हैं तो सब लोग हंसते हैं। लोगों को गोली मारो और बताओ बिटबा कहाँ है?

मीठे रिश्ते या बोझिल !!

nehabhardwaj123   1.57K views   7 months ago

ये कहानी है, राकेश और रागिनी जो लेनदेन को रस्मों के नाम पर बोझ से खुद को मुक्त करा देते है

​लाश हो जाना ही अच्छा है

dhirajjha123   11 views   1 year ago

मरघट में धू धू कर जलती लाशें जलते हुए भी मुस्कुरा रही थीं जाते जाते ज़िंदा लोगों को उनके मरे होने का अहसास करा रही थीं

झूठी कहानी

dhirajjha123   23 views   1 year ago

यह महज़ कहानी ही है मैं सच भी कहूँगा तब पर भी कहानी ही रहेगी । पर इस कहानी पर ऊँगली ना उठाऐं क्योंकी सच में तो ये प्रेम मरता जा रहा है कम से कम कहानियों में तो अल्लाह और महादेव का प्रेम बना रहे

कौन आज़ाद है?

sidd2812   31 views   1 year ago

वो लाहौर से भागा तो अमृतसर में जा फंसा, उसपर बेटी के साथ बलात्कार का आरोप था। और वो अपनी बेटी से मिलने के लिए बेताब हुआ जा रहा था।

देश-सेवा

SHIKHA SRIVASTAVA   35 views   1 year ago

इस कहानी के जरिये मैं सबसे ये कहना चाहती हूँ कि अगर हम सब ये ठान ले कि हम अपने देश के योग्य, ईमानदार और देश के प्रति समर्पित नागरिक बनेंगे तो हमारे देश को विकासशील से विकसित राष्ट्र बनने में देर नहीं लगेगी।

Murdered by others

jhalak   8 views   1 year ago

Sometime force marriage social abuse acid attack..woman is hunted ....

बच्चों का पेट पालने के लिए पुरुषों का काम करती महिलाएं

Anonymous
  54 views   1 year ago

किस प्रकार एक औरत अपने बच्चों के लिए कुछ ‌‌भी‌‌ कर ‌सकने ‌को ‌सदैव‌ तैयार ‌रहती है।

कार्टून या साजिश?

kavita   287 views   1 year ago

आजकल बच्चो को मनोरंजन के नाम पर परोसी जा रही अश्लीलता के सम्बंध में प्रस्तुत है मेरे निजी विचार..!