INSPIRATIONAL

FILTERS


LANGUAGE

उसे पढ़ना है

poojaomdhoundiyal   12 views   1 year ago

जहाँ हम शिक्षा में अंकों और प्रतिस्पर्धा की बहस में लगे हुए हैं वहीँ कुछ मासूम ऐसे भी हैं जो पढ़ना चाहते हुए भी नहीं पढ़ पा रहे हैं। शिक्षा ही एकमात्र ऐसा अचूक बाण है जो हर बुराई हर नफरत हर भ्रष्टाचार, आतंकवाद ,हर असमानता , हिंसा या अमानवता को समाप्त कर सकती है।

कप्तान/कोच

kumarg   170 views   10 months ago

कुछ ही समय बाद वो फिर से मैदान पर था अबकि बार कोच की भूमिका में।

माँ

Nidhi Bansal   68 views   10 months ago

माँ की ममता उस का प्यार,कोई समझे कैसे उसको,माँ की महिमा है अपार

माँ मुझे आना है .....

nehabhardwaj123   25 views   1 year ago

एक अजन्मी बच्ची की भावनाएं , जिसे एक लड़की होने के कारण जन्म नहीं लेने दिया गया ....।

बौड़मसिंह मर गया

sidd2812   60 views   1 year ago

बौड़म जलेबी खाने से मर गया? वाकई?

ग़ज़ल-"बेकार की बातें न कर..."

sunilakash   20 views   1 year ago

व्यवस्था में विष घोलकर, उद्धार की बातें न कर।

"thin strings left me paralysed"

Shreya Dubey   10 views   1 year ago

This is a fiction story which will surely increase your heartbeat.

समझ

dhirajjha123   171 views   1 year ago

एक पुरानी रचना पर नज़र पड़ी तो सोचा आपकी नज़र भी कर दूँ। शायद कोई मुझ जैसा गलती करने से पहले संभल जाए।

ऐ खुदा तू ही बता. . !

shivamtiwari   13 views   1 year ago

भारतीय सेना के प्रत्येक जवान की भावनाओं से प्रेरित कविता।

रिजल्ट

mrinal   46 views   1 year ago

बारहवीं का रिजल्ट आने वाला था। जितनी बेचैनी सुरभि के मन में थी, उससे कहीं अधिक उसके पिता के मन में चल रही थी। दंगे की आशंका के कारण इंटरनेट पर प्रशासन ने रोक लगा रखा था।

एक ऐसा गीत गाना चाहती हूं, मै..

soni   13 views   1 year ago

एक ऐसा गीत गाना चाहती हूं, मै.. सुर से सरगम को मिलाना चाहती हूँ, मै,

आसमान बोलता है !

sunilakash   11 views   1 year ago

विश्वास है इंसान का, जो विपदाओं मॆं डोलता है।

मासिकधर्म या कुरीति

nis1985   1.52K views   9 months ago

शर्म की वजह से ही आज ग्रमीण या सामान्य महिलायें भी न तो इस विषय पर खुलकर बोल पाती और जागरूकता की कमी की वजह से ही उन तक मासिकधर्म से सम्बंधित कई महत्त्वपूर्ण जानकारी नहीं पहुँच पाती और न ही वो【 पेड 】इस्तेमाल की कोई जानकारी रखती हैं

दो लक्ष्मीयों के बाद कुबेर तो आते ही है.

Maneesha Gautam   609 views   9 months ago

आज हम लोग शरद के घर गए थे चौक की पूजा में, सब लोग वहाँ बहुत खुश थे।

Unworthy

Maria Anderson   12 views   1 year ago

Physical abuse isn't the only abuse. Just because my eyes aren't black and blue. Or my arm isn't broken in two. Words hurt too. A story of finding yourself after an emotionally abusive marriage.