INSPIRATIONAL

FILTERS


LANGUAGE

कौन अपना कौन पराया

Manisha Dubey   1.42K views   2 months ago

रिश्तों की डोर एक बार टूट जाये तो चाहें कितना भी बाँध लो गाँठ तो पड़ ही जाती है।

ईमानदार

mmb   788 views   8 months ago

एक गरीब उसूलों पर चलने वाले ईमानदार विद्यार्थी की कहानी

पगली

mmb   1.02K views   7 months ago

कैंसर से जूझती पत्नी को पति के प्यार का सहारा

झूठी कहानी

dhirajjha123   24 views   1 year ago

यह महज़ कहानी ही है मैं सच भी कहूँगा तब पर भी कहानी ही रहेगी । पर इस कहानी पर ऊँगली ना उठाऐं क्योंकी सच में तो ये प्रेम मरता जा रहा है कम से कम कहानियों में तो अल्लाह और महादेव का प्रेम बना रहे

"डर"

dhirajjha123   1 views   1 year ago

क्या तुम जानते हो सबसे बहादुर होता है ये डर हाँ मैं सच कह रहा हूँ

​क्या तुम जानते हो

dhirajjha123   5 views   1 year ago

क्या तुम जानते हो गुलामी किसको कहते हैं ?

बहनजी टाइप

swa   78 views   1 year ago

8 दिन हो गये । सृष्टि जिद पकड़कर बैठी है । नौकरी करेगी। आख़िर उसकी डिग्री किस काम की है ? सिर्फ घर संभालती रहेगी? आखिर वो गोल्ड मेडलिस्ट है। ऋषभ बताओ मैं क्यों नहीं कर पाऊंगी नौकरी? कितनी लड़कियां करती है। तुम्हें क्या लगता है? मैं नौकरी और घर मैनेज नहीं कर सकती?

मर्दानी

suneel   226 views   1 year ago

अपनी आरामगाह में धारदार हथियार के प्रवेश से दोनों लड़कियाँ सुन्न थी। पहली लड़की की आँखों में जहाँ डर नजर आ रहा था दूसरी ने शांत होकर अपना सिर गर्भ की दीवार पर टिका दिया।

अस्तित्व : women struggle after marriage

kavita   290 views   1 year ago

एक स्त्री के विवाहोपरांत आत्म सम्मान से जुड़े संघर्ष की कहानी और उसमे जीवन साथी की भूमिका

" एक उलझी सी पहेली "

Neha Neh   180 views   1 year ago

एक खूबसूरत सी कहानी जो जरूर आपको कुछ सीखा कर जायेगी।

पर्फेक्ट मैरिज मटेरियल

Maneesha Gautam   769 views   9 months ago

कैसी लड़की चाहिए भाई?बस यार सुंदर हो,  माता-पिता की सेवा करे,

मीठे रिश्ते या बोझिल !!

nehabhardwaj123   1.57K views   8 months ago

ये कहानी है, राकेश और रागिनी जो लेनदेन को रस्मों के नाम पर बोझ से खुद को मुक्त करा देते है

"बाबा यहाँ ना छोड़ो मुझे अपने साथ ले जाओ"

Kalpana Jain   1.07K views   2 months ago

कहां से लाते हैं ऐसे लोग इतना बड़ा जिगर के नन्ही जान को कही भी फेक देते हैं।

मासिकधर्म या कुरीति

nis1985   1.53K views   10 months ago

शर्म की वजह से ही आज ग्रमीण या सामान्य महिलायें भी न तो इस विषय पर खुलकर बोल पाती और जागरूकता की कमी की वजह से ही उन तक मासिकधर्म से सम्बंधित कई महत्त्वपूर्ण जानकारी नहीं पहुँच पाती और न ही वो【 पेड 】इस्तेमाल की कोई जानकारी रखती हैं

ईश्वर के होने का प्रमाण ( कहानी )

dhirajjha123   36 views   1 year ago

एक समय एक बहुत ही पहुँचे हुए संत हुआ करते थे । हर गाँव हर जगह घूम घूम कर ज्ञान बाँटते और लोगों का ध्यान ईश्वर की तरफ आकर्षित करते । बड़ा।नाम था उनका । उनके प्रवचन को सुनने के लिए लोग सारे काम धंधे छोड़ कर आ जाया करते ।